नोट गिनते हुई थानेदार की वीडियो वायरल, डीएसपी ने सौपी एसएसपी को जांच रिपोर्ट

नोट गिनते हुई थानेदार की वीडियो वायरल

लाइव सिटीज/मुजफ्फरपुर (विकाश कुमार):  मुजफ्फरपुर जिला लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. शराब बेचने के आरोप में इंस्पेक्टर के आवास एवं थाने में हुई छापेमारी की चर्चा थमी ही नही थी  कि फिर दूसरे थानेदार पर बड़ी आरोप लग गये. रुपये गिनते वीडियो वायरल होने के मामले में सदर थानेदार को निलंबित कर दिया गया है. आइजी के निर्देश पर नगर डीएसपी मुकुल कुमार रंजन ने थाने पर पहुंचकर मामले की जांच की थी.

इसके बाद एसएसपी मनोज कुमार ने कार्रवाई करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया. दोपहर को नगर डीएसपी मुकुल कुमार रंजन सदर थाने पहुंचे. उन्होंने सदर थानेदार राकेश कुमार से कई बिंदुओं पर पूछताछ की. थानेदार ने इस पर सफाई देते हुए इसे साजिश बताया. कहा कि वीडियो में दिख रहा युवक उसका रिश्तेदार है. इस तरह की कोई बात नहीं है. नगर डीएसपी ने थानेदार पर नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि आरोप ऐसे ही नहीं लग रहा है.

अगर युवक आपका रिश्तेदार है तो उसे बुलाइए. मैं खुद उससे पूछताछ करूंगा. डीएसपी ने पूछताछ के बाद आगे की कार्रवाई करने की बात कही. नगर डीएसपी ने बताया कि सदर थाने के मालखाने व जब्त शराब के रिकॉर्ड की भी जांच की गयी है. प्रारंभिक जांच में यह सही पाया गया है. जांच में अगर थानेदार दोषी पाये जायेंगे, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. इसके बाद नगर डीएसपी ने जब कांडों की समीक्षा की, तो उन्हें दस साल पुराने कई केस लंबित मिले. इस पर थानेदार को फटकार लगायी.

सभी लंबित कांडों का निष्पादन करने का निर्देश भी दिया. इधर मोतीपुर थाने में जब्त शराब से अधिक मिलने के मामले में निलंबित थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ व जमादार अमेरिका प्रसाद पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है. उन पर विभागीय कार्रवाई भी होगी. दोनों की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर छापेमारी की गयी है. देर रात मद्यनिषेध के आइजी रत्न संजय एसएसपी मनोज कुमार के साथ मोतीपुर थाने पहुंचे थे.

उन्होंने मद्यनिषेध की टीम से पूरी कार्रवाई की जानकारी ली. मोतीपुर थाने के नये थानेदार से पूछताछ कर उन्हें शराब जब्ती के मामले में कार्रवाई करने के तरीके भी बताये. इसके बाद बरूराज थानाध्यक्ष राजीव तिवारी को पूछताछ के लिए तलब किया गया. मुंशी के खिलाफ मद्यनिषेध को शिकायत मिली थी. बरुराज थानाध्यक्ष सहित कई अन्य लोगों से मद्द निषेध आईजी रत्न संजय ने घंटों पूछताछ की एवं शराब बंदी में लापरवाही बरतने को लेकर नराजगी भी जाहिर की.

इस दौरान उन्होंने शराबबंदी को सफल बनाने एवं माफियाओं से निपटने के लिए अधिकारियों को टास्क भी दी. पूछताछ के बाद रात साढ़े 11 बजे वह पटना के लिए निकल गये. इधर, जोनल आइजी सुनील कुमार ने थाने में तैनात 39 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर करते हुए सामूहिक तबादला कर दिया. वहां पर नये थानाध्यक्ष के तौर पर अनिल कुमार सहित दूसरी टीम को तैनात किया गया है. आइजी ने बताया कि निलंबित थानाध्यक्ष को हाल में ही तैनात किया गया था. शिकायत मिली थी कि मोतीपुर में शराब की बरामदगी कम हो रही है. अनुसंधान भी सही तरीके से नहीं हो रहा था.

इसी क्रम में पटना से आयी मद्यनिषेध की टीम ने रविवार की रात छापेमारी की. उनके कार्यकाल में शराब की जितनी भी प्राथमिकी दर्ज की गयी थी, उसकी जब्ती सूची से मालखाने में रखी शराब का मिलान किया गया. मालखाने में जब्ती सूची से 66 लीटर अधिक शराब मिली है. उन्होंने कहा कि स्टेशन डायरी पेंडिंग रखने में उन्हें रविवार रात ही निलंबित कर दिया गया. जमादार अमेरिका प्रसाद भी फरार है. उन्हें भी निलंबित किया गया है. मंगलवार के दिन अनुसंधान कर्ता डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने इंस्पेक्टर के गिरफ्तारी कर लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल कर वारंट की मांग किया हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*