पटना पुलिस विद्रोह : DSP मसेलहउद्दीन पर गिरी गाज, भेजे गए पुलिस मुख्यालय

लाइव सिटीज सेंट्रल डेस्क: बिहार की राजधानी पअना में 2 नवंबर को हुए पलिस विद्रोह मामले में पहली बड़ी कार्रवाई हुई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार डीएपी पर बड़ी कार्रवाई की गई है. बता दे कि लांच रिपोर्ट के अधार पर डीएसपी मसेलहउद्दीन पर कार्रवाई हुई हैं. उन्हे अब पुलिस मुुख्यालय भेज दिया गया है. बताया जा रहा है कि जांच रिपोर्ट में उनके खिलाफ कई सारी खामियां मिलीं हैं.

जांच रिपोर्ट के अधर पर हुई कार्रवाई

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिहार की राजधानी में महिला कांस्टेबल की मौत के बाद भड़के पुलिस विद्रोह में ये बड़ी कार्रवाई हुई हैं. जानकारी मिल रही है कि डीएसपी मसेलहउद्दीन पर यह पहली कार्रवाई हुई है. उनपर जांच रिपोर्ट के अधार पर कार्रवाई की गर्इ् है. ऐसी खबरे आ रहीं हैं कि कल जो रिपोर्ट इस मामले में आईजी ने सौंपी थी उसके अधार पर ये कार्रवाई हुई है.

आपको बता दे कि इससे पहले कल शुक्रवार कोे पटना पुलिस लाइन में हुए रंगरूट उपद्रव मामले में जोनल आईजी ने पुलिस मुख्यालय को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी. रिपोर्ट सौपने के वक्त उन्होंने इस बात को माना था कि डीएसपी मो. मसेलहउद्दीन पर गाज गिरनी तय है. उन्होंने यह भी बात कही थी कि जांच के दोरान डीएसपी के कामकाज में खामियां सामने आईं हैं. आपको बता दे कि कल जोनल आईजी नैययर हसनैन खान ने अपनी 17 पन्ने की रिपोर्ट सौंपी थी. उन्हे दस बिंदुओं पर रिपोर्ट देने को कहा गया था. डीएसपी मसेलहउद्दीन की कार्यशैली को रिपोर्ट में कई सारी बातें कहीं गई हैं.

आपको बता दे कि पुलिस विद्रोह का एक महिला कांस्टेबल की डेंगू से मौत के बाद भड़का था. मामला सामने आया था कि महिला कांस्टेबल सविता पाठक को छूट्टी नही दी गई थी. पुलिस विद्रोह के मामले में करीब 175 सिपाही को बर्खास्त किया गया है. बता दे कि कई महिला कांस्टेबल ने डीएसपी की कार्यशैली के खिलाफ पहले ही बोला था. ऐसे मे अब उनपर ये बड़ी कार्रवाई हुई है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*