#MeToo के बाद अब ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है #NOMeansNO, लोग पोस्ट कर रहे हैं फिल्म PINK का डायलॉग

#NOmeansNO
#NOmeansNO

पटना/नई दिल्ली। विदेश के बाद अब देश में भी #MeToo कैंपेन ने जोर पकड़ लिया है। इस कैंपेन के जद में बड़े—बड़े नाम रोज आ रहे हैं। तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन शोशण के आरोप के बाद से सोशल मीडिया पर इस हैश टैग के साथ एक के बाद एक कहानियां सामने आ रहीं है। वहीं कई ऐसे नाम भी सामने आए हैं जिन्हे सुनकर और देखकर आॅखो पर भरोशा नहीं होता है। वहीं अब के साथ हीं ट्विटर पर #NOMeansNO भी ट्रेंड कर रहा है।

महीलाओ की ड्रेसिंग सेंस और किसी पुरुष को ना कहने के उसके अधिकार को सम्मान देने को लेकर बात कर रहे है लोग

 

एक ओर जहां #MeToo कैंपेन के जरिए महिलाएं अपने साथ सार्वजनिक जगहो से लेकर आॅफिस और किसी सेलिब्रिटी से हुई मुलाकात के दौरान यौन शोशण और हैरासमेंट की बातो को खुल कर सामने रख रहीं है तो वहीं #NOMeansNO के साथ लोग महीलाओ की ड्रेसिंग सेंस और किसी पुरुष को ना कहने के उसके अधिकार को सम्मान देने को लेकर बात कर रहे है। इस हैश टैग अभियान के साथ महिलाओं के साथ—साथ पुरुष भी बढ़—चढ़ के पोस्ट कर रहे है।

ट्विटर पर तीसरे —चौथे नंबर पर ट्रेंड कर रहा #NOMeansNO के जरिए लोग अपील कर रहे हैं कि हमे अपने समाज में महिलाओ के डिसीजन को सम्मान देना होगा। इस हैश टैग के सााि लोगो से अपील की जा रही है की अगर वे अपने परिवार में महिलाओ के सम्मान और परिवार से बाहर महिलाओं का सममान करते है तो अपने वाल पेपर को NOMeansNO के लोंगो के साथ जोड़े और अभियान का हिस्सा बने।

वहीं इस कैंपेन के साथ कई लोग फिल्म पिंक में अमिताभ बच्चन के डॉयलॉग ‘NO is a complete sentence. लिख कर अपील कर रहे है कि अगर कोई भी महिला एक आर किसी भी बात के लिए फिर जो उसे पसंद नहीं है, अगर ना बोले तो उसका मतलब ना हीं होना चाहिए।

इस मुहिम की खास बात ये है कि इसमें महिलाओं से ज्यादा पुरूश ज्यादा जुड़ रहे हैं। वहीं वे लोगो से अपील कर रहे है कि एक आम इंसान की तरह नहीं बल्की एक जेंटलमैन की तरह बिहेब करे। आपको बता दे कि हाल हीं में भारत में #MeToo कैंपेन ने कई लोगो के चेहरे से शराफत का नकाब हटा कदया है। वहीं अब #NOMeansNO कैंपेन समाज की युवा पीढ़ी में महिलाओं के प्रति लोंगो को जागरुक कर रही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*