आ रही है BMW की धांसू बाइक, बेफिक्र होकर चलाएं…ये बाइक कभी नहीं गिरेगी

लाइव सिटीज डेस्क : दुनिया के प्रमुख ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर बीएमडब्लू ने एक ऐसी बाइक पेश की है जो कभी गिरती नहीं है. अपनी महंगी और लक्जरी गाड़ियों के लिए मशहूर कंपनी BMW ने अपनी फ्यूचर बाइक लॉन्च कर दी है. कंपनी ने इस बाइक का नाम मोटररैड रखा है. यानी अब बाइक से गिरने का डर खत्म हो जाएगा. इस मोटरसाइकिल के फीचर्स ऐसे हैं जो किसी को भी अपना कायल बना सकते हैं. इस फ्यूचर बाइक की सबसे बड़ी खासियत सेल्फ बेलेंसिंग व्हील डिजाइन है. इस तरह इसे कभी न गिरने वाली बाइक माना जा रहा है. कंपनी का मानना है की इसे खरीदने के बाद हेलमेट की जरूरत नहीं होगी क्योंकि ये बाइक कभी गिरेगी ही नहीं. यह शानदार बाइक खुद को संतुलित रखती है और शून्य की रफ्तार पर भी अपने आप खड़ी रहती है.

इस सेल्फ बैलेसिंग बाइक का नाम मोटररैड विजन नेक्स्ट 100 रखा गया 



बीएमडब्लू द्वारा पेश की गई इस सेल्फ बैलेसिंग बाइक का नाम मोटररैड विजन नेक्स्ट 100 रखा गया है. यह खुद को संतुलित रखती है और शून्य की रफ्तार पर भी अपने आप खड़ी रहती है. बीएमडब्लू के मुताबिक, “बीएमडब्लू मोटररैड विजन नेक्स्ट 100 का फ्लेक्सफ्रेम अगले से लेकर पिछले पहिये तक एक है.” इसका मतलब कि आजकल की बाइकों में आने वाले कई जोड़ों की बजाए इसे सीधे ही चलाया जा सकेगा.

इस बाइक की खासियत इसका फ्रेम है 

सीधे शब्दों में कहें तो इस बाइक की खासियत इसका फ्रेम है जिसके चलते हैंडलबार घुमाने पर पूरी बाइक ही घूम जाती है और मनचाही दिशा में मुड़ जाती है. इस बाइक का बैलेंसिंग सिस्टम काफी आसान हैंडलिंग के साथ ही एक डायनेमिक राइडिंग एक्सपीरियंस देता है. इस बाइक का एक डिजिटल कंपेनियन चालक को हर हालात की जानकारी और जरूरत के मुताबिक एक्टिव सपोर्ट देती है.

राइडर को एक्टिव असिस्टेंस देता है

यह डिजिटल कंपेनियन यानी बाइक के साथ आने वाला ग्लास यूं तो हरवक्त एक्टिव रहता है लेकिन देखने में खामोश नजर आता है, पर जैसे ही जरूरत पड़ती है तो तुरंत राइडर को एक्टिव असिस्टेंस देता है. इस बाइक का राइडर इन ग्लासेज के साथ बाइक से संपर्क करता है और यह ग्लास उसे पूरी जानकारी देने के साथ सामने का पूरा साफ दृश्य दिखाते हैं.

राइडर पीछे से आते वाहनों को देख सकता है

न केवल यह ग्लासेज राइडर की हवा से सुरक्षा करते हैं बल्कि इसकी स्क्रीन पर बने चार निर्धारित स्थानों पर संबंधित डाटा दिखाते हैं. यह सभी डाटा राइडर की आंखों की गतिविधियों (आई मूवमेंट) के मुताबिक होता है. यानी स्क्रीन के सामने आने वाला डाटा ऊपर या नीचे देखने पर बदल जाता है और सीधे देखने पर यह सारा डाटा स्क्रीन से गायब हो जाता है, ताकि वो सीधे रास्ते पर ध्यान केंद्रित कर सके. इतना ही नहीं इस ग्लास में ऊपर की ओर देखने पर रीयर व्यू फंक्शन एक्टिव हो जाता है यानी राइडर पीछे से आते वाहनों को देख सकता है.

बीएमडब्लू 100 साल पूरे करने का जश्न मना रही है

जबकि नीचे की ओर देखने पर एक मेन्यु खुल जाता है जिसके अंदर के फंक्शंस को सेलेक्ट करने के लिए राइडर को केवल अपनी अंगुली से ईशारा भर करना होता है. वहीं, अगर राइडर आगे रास्ते का मैप देखना चाहता है तो वो सबसे नीचे देखकर इसे एक्टिव कर सकता है. गौरतलब है कि अपने भविष्य के कॉन्सेप्ट मॉडल्स पेश करके बीएमडब्लू 100 साल पूरे करने का जश्न मना रही है. कंपनी के मुताबिक अब बिना हेल्मेट बाइक चलाना मजे की बात हो जाएगा. वैसे भी तमाम देशों में बाइक चलाते वक्त प्रोटेक्टिव गियर पहनना कानूनी रूप से जरूरी है और सेल्फ बैलेंसिंग टेक्नोलॉजी अभी विकासशील चरण में है.

यह बाइक पूरी तरह ऑटोमैटिक 

वहीं, कंपनी का कहना है अपने तमाम शानदार फीचर्स के बावजूद यह बाइक पूरी तरह ऑटोमैटिक नहीं होगी. कंपनी के मुताबिक हम मोटरसाइकिलों की आजादी को नहीं छीन रहे हैं. वहीं, चालक रहित (सेल्फ ड्राइविंग) ऑटोपायलट सिस्टम को दुनियाभर में विरोध का सामना करना पड़ा है क्योंकि इससे कई जानलेवा दुर्घटनाएं हुई हैं.

यह 2030 से पहले अस्तित्व में नहीं आ पाएगी

दूसरी तरफ बीएमडब्लू का लक्ष्य है कि वो 2021 से पूर्णतया ऑटोनॉमस व्हीकल्स का व्यावसायिक उत्पादन शुरू कर दे. म्यूनिख की यह कंपनी सेल्फ ड्राइविंग कार के निर्माण के लिए अमेरिकी दिग्गज कंपनी इंटेल और इस्रायली तकनीकी कंपनी मोबिलेये के साथ समझौता कर रही है. हालांकि बाइक के बारे में बताया जा रहा है कि यह 2030 से पहले अस्तित्व में नहीं आ पाएगी.