ये हैं बॉलीवुड के खूंखार विलेन्स के बेटे, इन्होंने अपने पिता से अलग हटकर बनाई है अपनी पहचान

लाइव सिटीज डेस्क : शोले फिल्म का एक डायलोग बहुत ज्यादा मशहूर हुआ था जिसे सभी लोग बोलते थे. वो डायलोग था “जब 50-50 कोस दूर गांव में कोई बच्चा रोता है…तो मां कहती है सो जा, नहीं तो गब्बर आ जाएगा.” फिल्म “शोले” का विलेन गब्बर सिंह, जब ये डायलॉग बोलता है तो देखने वाले भी डर जाते हैं. इसमें कोई दोराय नहीं कि फिल्मी दुनिया में बॉलीवुड का परचम लहराने में जितना महत्वपूर्ण योगदान फिल्मी हीरोज का है, उतना ही विलेन्स का भी है.

गौर फरमाया जाए तो बॉलीवुड में खलनायकों की भूमिका शुरुआत से ही बहुत खास रही है. कई विलेन्स आए और गए लेकिन कुछ विलेन्स अपनी दमदार एक्टिंग से ऐसी छाप छोड़ गए, जिसे सदियों तक याद किया जाएगा. आज हम आपके लिए लेकर आए हैं बॉलीवुड के चुनिंदा विलेन्स से जुड़ी कुछ खास बातें. जी हां आज हम आपको बताएंगे कि इन विलेन्स के बेटे रियल लाइफ में क्या कर रहे हैं. देर मत कीजिए. आइए जानते हैं पूरी बात.



1. डैनी डेंजोंगप्पा

डैना डैंगजोंगपा हिन्‍दी फिल्‍मों के मशहूर अभिनेता हैं. हिन्‍दी फिल्‍मों के साथ साथ उन्‍होंने नेपाली, तेलुगु और तमिल फिल्‍मों में भी काम किया है. उन्‍होंने हॉलीवुड फिल्‍मों में भी काम किया है. डैनी को पद्मश्री सम्‍मान भी मिल चुका हैा वे अपने खलनायक और सहायक अभिनेता के किरदारों के लिए जाने जाते हैं. उन्‍होंने कई फिल्‍मों में अपनी खलनायकी से लोगों के दिलों में दहशत पैदा की है.

अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘अग्निपथ’ के कांचा चीना यानी डैनी डेन्जोंगपा बॉलीवुड के मशहूर विलेन्स में से एक हैं. ‘हम’, ‘खुदा गवाह’, ‘घातक’ जैसी फिल्मों में काम करने वाले डैनी के बेटे का नाम रिन्ज़िंग डेन्जोंगपा है. रिन्ज़िंग जल्द ही बॉलीवुड में डेब्यू की तैयारी कर रहे हैं.

2. शक्ति कपूर

शक्ति कपूर फिल्म इंडस्ट्री में आज जिस मुकाम पर हैं, व्हां उन्होंने पहुंचने के लिए इस इंडस्ट्री में कड़ी मेहनत की हैं. साल 1980 के दौर में शक्ति कपूर को बतौर अभिनेता पहचाना जाने लगा. उस साल उनकी दो फिल्में क़ुरबानी और रॉकी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्में साबित हुई थी. इन दोनों ही फिल्मों में उन्होंने मुख्य खलनायक की भूमिका अदा की थी.

अपने खलनायक वाले रोल के अलावा कॉमेडी रोल्स के लिए भी चर्चित एक्टर शक्ति कपूर का नाम भी खतरनाक खलनायकों की लिस्ट में शामिल है. शक्ति कपूर की तरह ही उनके बेटे सिद्धांत भी फिल्मी दुनिया में करियर बनाना चाहते हैं. वे ‘हसीना : द क्वीन ऑफ मुंबई’ से अपना बॉलीवुड डेब्यू कर चुके हैं.

3. अमजद खान

शोले’ के गब्बर सिंह यानी अमजद खान का वो रोल तो शायद ही कभी कोई भूल पाएगा. जब उन्होंने अपनी एक्टिंग और दमदार डायलॉग डिलीवरी से गब्बर सिंह के किरदार को सदियों के लिए अमर कर दिया. अपने पिता की तरह उनके बेटे शादाब खान ने भी फिल्मों में करियर बनाने की सोची लेकिन कुछ बात नहीं बनी.

4. गुलशन ग्रोवर

बैडमैन गुलशन ग्रोवर भी बॉलीवुड के खलनायकों की लिस्ट का एक सॉलिड नाम है. जहां एक ओर गुलशन में अपनी दमदार एक्टिंग बॉलीवुड में अपना अलग मुकाम बनाया. वहीं उनके बेटे को फिल्मी लाइन में कोई दिलचस्पी नहीं है. वो तो बिजनेसमैन हैं.

5. रज़ा मुराद

‘राम तेरी गंगा मैली’, ‘हिना’, ‘प्रेम रोग’ जैसी फिल्मों में खूंखार विलेन के किरदार में नजर आए रजा मुराद ने खलनायकों को एक नए आयाम तक पहुंचाया. रजा की तरह ही उनके बेटे भी फिल्मों में काम करने के इच्छुक हैं. इसके लिए उन्होंने लंदन के एक्टिंग स्कूल से ट्रेनिंग भी ली है.

6. मैक मोहन

गब्बर के साम्भा यानी मैक मोहन मुंबई आए तो क्रिकेटर बनने थे लेकिन किस्मत ने उन्हें विलेन बनाकर छोड़ा. मैक मोहन के बेटे विक्रांत मेकीजन भी फिल्मों में काम करते हैं.

7. दलीप ताहिल

दलीप ताहिल को ‘बाजीगर’, ‘राजा’, ‘इश्क’, ‘कयामत से कमायत’ तक में विलेन बनते देखा गया है. वहीं उनके बेटे ध्रुव ताहिल, लंदन में मॉडल हैं.

8. एम.बी. शेट्टी

80 व 90 के दशक के बेहतरीन स्टंटमैन और विलेन एम.बी. शेट्टी के बेटे रोहित शेट्टी बॉलीवुड के मशहूर डायरेक्टर-प्रोड्यूसर हैं. ‘गोलमाल’, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’, ‘दिलवाले’ उनकी बड़ी फिल्मों में से एक हैं.

9. कबीर बेदी

बॉलीवुड के सबसे हैंडसम विलेन कबीर बेदी ने ‘खून भरी मांग’ में विलेन के किरदार से दर्शकों के बीच खासी लोकप्रियता बटोरी थी. कबीर बेदी के बेटे अदम बेदी एक इंटरनेशनल मॉडल हैं.

10. सुरेश ओबेरॉय

विवेक ओबेरॉय के पिता सुरेश ओबेरॉय भी अपने समय के खास विलेन रह चुके हैं. अपने पिता के नक्शे-कदम पर चलते हुए विवेक ने एक्टिंग करने की ठानी और एक्टिंग की दुनिया में नाम कमाया.