OMG! इस गांव के लोगों के लिए धूप में बाहर निकलना सजा से कम नहीं, धूप से गल जाती है स्किन

लाइव सिटीज डेस्क : दुनिया में कई ऐसी जगह हैं जहां अजीब सी घटनाएं घटती रहती हैं. ऐसे में ब्राजील के साओ पाउलो में एक गांव है जहां लोगों के स्किन धूप से जल जाते हैं. यहां के लोगों को एक अजीब तरह की बिमारी है. ब्राजील के साओ पाउलो में एक अरारस नाम का गांव है जहां के लोगों को त्वचा की एक बहुत ही अजीबो गरीब और दुर्लभ बीमारी है. इस बीमारी का नाम एक्सोडेरमा पिगमेंटोसम है जिसे एक्सपी भी कहते हैं. इस बीमारी में धुप के कारण स्किन गल जाती है.

यह बीमारी लाखों लोगो में से किसी एक को 



वैसे तो यह बीमारी लाखों लोगो में से किसी एक को होती है पर इस गांव में 3 फीसदी आबादी इस बीमारी से पीड़ित है. यहां के लोग धूप में निकलने से डरते हैं क्योंकि यहां के लोगों के लिए बाहर धूप में निकलना सजा से कम नहीं है.

सूरज की किरणों से यहां लोगों के स्किन झुलस जाती हैं

बाहर धूप में निकलने से सूरज की किरणों से यहां लोगों के स्किन झुलस जाती हैं. यह बिमारी अगर ज्यादा दिन तक रहती है तो स्किन कैंसर का रूप ले लेती है फिर उसका इलाज नामुमकिन हो जाता है. धूप के कारण लोगों के चेहरे लाल और भद्दे दिखने लगते हैं.

गांव में 800 लोगों में से 20 लोग इस बीमारी के शिकार

इस गांव में ज्यादातर लोग खेती का काम करते हैं. ऐसे में उनका बाहर न जाना काफी नुकसानदायक हो जाता है. इस गांव में 800 लोगों में से 20 लोग इस बीमारी के शिकार हैं.

चालीस लोगों में एक आदमी इस बीमारी से पीड़ित

मतलब ये हुआ कि हर चालीस लोगों में एक आदमी इस बीमारी से पीड़ित है, जबकि अमेरिका में 10 लाख लोगों में कोई एक शख्स ही इस बीमारी का शिकार है.

अपने चेहरे को धूप से बचाने के लिए मास्क और टोपी पहनते हैं

इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह यहां की अनुवांशिकता को बताई जा रही है. धूप में यहां के लोगों के नाक, होंठ, गाल और आंख सब गलने लग जाते हैं. यहां लोग अपने चेहरे को धूप से बचाने के लिए मास्क और टोपी पहनते हैं, जिससे उन्हें बीमारी को काबू में करने में थोड़ी मदद मिल जाती है.

बीमारी से बचने के लिए गांव में लोगों को जागरुक किया जा रहा

हालांकि अब इस बीमारी से बचने के लिए गांव में लोगों को जागरुक किया जा रहा है. बच्चों को इसके शुरुआती लक्षणों के बारे में बताया जा रहा है और उन्हें धूप में कम से कम निकलने की सलाह दी जा रही है.