‘महादेव का रहस्य’ बताती है अमीश त्रिपाठी की शिवा ट्रायलॉजी, यहां खरीदें

लाइव सिटीज डेस्क : बचपन में आपने बहुत सी कहानियां सुनी व पढ़ी होगी. लेकिन आज हम जो कहानी आपको बताने जा रहे हैं ऐसी कहानी आपने आजतक न तो पढ़ी होगी और न ही सुनी होगी. क्योंकि ये एक ऐसे इंसान की कहानी है जो अपने कर्म से महान बनता है. हम बात कर रहे हैं मेलहुआ के मृत्युंजय के नायक शिव की. अगर आपने भी अमीश त्रिपाठी की शिवा ट्रायलॉजी पढ़ी होगी, तो आप मेरी बात से एग्री करेंगे. क्योंकि भारत में जहां धर्म एक संवेदनशील विषय है. कोई भी इस मुद्दें पर बोलने या लिखने में संकोच करता है.

वहीं अमीश त्रिपाठी ने इस विषय को हाथ लगाकर, जिस तरह प्रस्तुत किया ये राजनीतिक तौर पर एक विस्फोटक सब्जेक्ट हो सकता था. लेकिन अमीश त्रिपाठी ने बिना किसी विवाद के ‘शिव’ को एक फिक्शन का किरदार बनाकर तीन उपन्यास लिख डाले. और यह ही नहीं ‘शिवा ट्रालॉजी’ की करीब 27 लाख कॉपी बिक जाना अपने आप में एक रिकॉर्ड है.

आम भारतीय बच्चों की तरह अमीश का बचपन भी पूजा-आरती, घंटियों की ध्वनि, शंख का नाद, दादा और पिता से देवी-देवताओं से जुड़ें किस्से-कहानियों सुनकर ही गुजरा. शुरूआती दिनों में अमीश ने अपना करियर एक बैंकर के रूप में स्टार्ट किया. और उसके बाद कुछ ऐसा कर दिया कि पूरी दुनिया इसकी कायल हो गई. अमीश ने शिवा ट्रायलॉजी’ में जिस तरह से शिव और उनसे जुड़ें किरदारों को प्रस्तुत किया, उसने पूरे विश्व में धमाल मचा दिया. बड़े-बड़े उपनायसकार तक उनके कायल हो गए. अमीश त्रिपाठी ने शिव भक्तों को  ‘महादेव का रहस्य’ बताकर हैरत में डाल दिया.

शिवा ट्रायलॉजी खरीदने के लिए यहां क्लिक करें.

शिवा ट्रालॉजी’ में अमीश ने शिव को एक आम इंसान की तरह प्रस्तुत किया है. एक ऐसा इंसान जो अपने कर्म से महान बनता है. समाज और यहां की रिती-रिवाजों से अलग सोचता है. उसके द्वारा किए गए कार्य उसे नीलकंठ बना देते हैं. वहीं शिव को एक बागी के रूप में भी दर्शाया गया है, इस बगावत का मतलब कानून या नियमों की अवहेलना करना नहीं है. किताब में शिव की बगावत सदैव जनकल्याण के लिए दिखाई गई है. साथ ही यह भी मैसेज दिया गया है कि हम सभी में शिव का स्वरूप है. युवाओं को अपने भीतर के शिव को पहचान कर जनकल्याण के लिए काम करना चाहिए. यह कहना है फेमस ऑथर अमिश त्रिपाठी का अपने किताब शिवा ट्रायलॉजी से.

निश्चित तौर पर यह किताब शिव भक्तों के लिए किसी धर्म ग्रंथ से कम नहीं है. अगर आप भी शिव भक्त हैं या माइथोलॉजिकल स्टोरिज पढ़ना चाहते हैं, तो आप सबको भी इस किताब को पढ़ना चाहिए. शिवा ट्रायलॉजी खरीदने के लिए यहां क्लिक करें.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*