ये बिहारी चायवाला राजनेताओं को सिखाता है राजनीति, नीतीश कुमार भी ले चुके हैं चाय की चुस्की

लाइव सिटीज डेस्क : भारत को ऐसे ही विविधताओं का देश थोड़े न कहा जाता है. यहां किसी जमाने में चाय बेचने वाली शख़्सियत नरेंद्र मोदी भी प्रधानमंत्री पद को सुशोभित करते देखे जाते हैं. तो वहीं मुज़फ़्फ़रपुर का एक चाय बेचने वाला पिछले 35 वर्षों से राजनीतिक शुचिता और मर्यादा का प्रतीक बना हुआ है.

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी जैसे राजनेता भी इस चायवाले के मुरीद हैं. यह शख़्स पिछले 35 वर्षों से भाजपा का सक्रिय सदस्य है और पार्टी से किसी तरह की पद-प्रतिष्ठा और टिकट की चाहत के बजाय पार्टी की विचारधारा और कार्यशैली के प्रति एक समर्पित कार्यकर्ता है.

भाजपा की टोपी पहने और चेहरे पह हमेशा मुस्कान लिए इस शख़्स को सभी भोला चौधरी के नाम से जानते हैं. मुज़फ़्फ़रपुर के मशहूर धर्मशाला चौक पर 40 साल पुरानी चाय दुकान के मालिक भोला का दिल भाजपा के लिए धड़कता है. भाजपा के स्थापना वर्ष से ही यह चाय की दुकान इस क्षेत्र में भाजपा के राजनीति की धुरी रही है.

अटल, आडवाणी, उमा भारती, यशवंत सिन्हा और कल्याण सिंह जैसे दिग्गज राजनेता यहां बराबर आते रहे हैं. आज भी वे खुले तौर पर इस क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशियों के प्रचार और जीत में अहम भूमिका अदा करते देखे जाते हैं.

पार्टी के प्रति अनुशासन और समर्पण की वजह से पूरा मुज़फ़्फ़रपुर उन्हें जानता-पहचानता है. भोला चौधरी की इस प्रतिबद्धता पर यहां के स्थानीय विधायक सुरेंद्र शर्मा कहते हैं कि वे हम सभी के लिए अभिभावक सरीखे हैं और हम रोज ही उनसे कुछ-न-कुछ सीखते हैं. यह दुकान अघोषित रूप से जिले के स्थानीय मीडियाकर्मियों का कार्यालय और ख़बर का केंद्र भी माना जाता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*