जब भोजपुरिया विलेन अवधेश मिश्रा बन गये हीरो, अपना अवार्ड दे दिया साथी कलाकार को

लाइव सिटीज डेस्क : भोजपुरी सिनेमा के सुपर विलेन अवधेश मिश्रा ने बारहवें भोजपुरी फिल्‍म अवार्ड 2017 में मिला अपना अवार्ड सुशील सिंह को देकर एक मिशाल पेश किया है, जिसकी सर्वत्र प्रशंसा हो रही है. हुआ यूं कि अवधेश मिश्रा को भोजपुरी फिल्‍म अवार्ड 2017 में फिल्‍म ज्‍वाला के लिए बेस्‍ट निगेटिव रोल का अवार्ड दिया गया था. मगर उन्‍होंने मंच से ही इस अवार्ड का असली हकदार सुशील सिंह को घोषित करते हुए उन्‍हें अवार्ड दे दिया. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि सुशील सिंह बेहद अच्‍छे अभिनेता हैं और उन्‍होंने ‘मोकामा जीरो किलोमीटर’ में कमाल का अभिनय किया है.

‘मोकामा जीरो किलोमीटर’ से उन्‍होंने निगेटिव किरदार के मापदंडों का नया लकीर खींचा है. जानकारों का मानना है कि अवधेश मिश्रा ने ऐसा भोजपुरी फिल्‍म इंडस्‍ट्री के बेहतरी के लिये किया. अगर उनका ये स्‍टेप इंडस्‍ट्री में परंपरा बन जाती है, तो इससे भोजपुरी सिनेमा इंडस्‍ट्री और समृद्ध होगी. उनके इस बोल्‍ड कदम का अनुसरण भोजपुरिया हीरो को भी करना चाहिए, ताकि अवार्ड के असली हकदार को उनका सम्‍मान मिलना चाहिए.

मिश्रा ने कहा कि यह दुर्भाग्‍य की बात है कि सुशील सिंह की ‘मोकामा जीरो किलोमीटर’ का इस प्रतिष्ठित अवार्ड समारोह में नॉमिनेशन नहीं हो सका. इस वजह से उनका नॉमिनेशन भी अवार्ड समारोह में नहीं हो पाया. यह पूरी तरह से फिल्‍म के प्रोड्यूसर की लापरवाही थी, कि उन्‍होंने इस अवार्ड में अपनी फिल्‍म को नॉमिनेट नहीं करवाया. लेकिन इसका मतलब ये तो नहीं है कि उम्‍दा टाइलेंट को सम्‍मानित नहीं किया जाये.

सुशील सिंह बेशक एक अच्‍छे और मंजे हुए अभिनेता और खलनायक हैं. वे इस अवार्ड को डिजर्व करते हैं. मुझे से ज्‍यादा इस पर उनका हक बनता है. इसलिए मैंने उन्‍हें ये अवार्ड दिया. वैसे भी ‘मोकामा जीरो किलोमीटर’ में उनकी अदाकारी का मैं कायल हूं. गौरतलब है कि अवधेश मिश्रा और सुशील सिंह ने साथ में कई फिल्‍में की है.