मैं किसी को ‘इंदु सरकार’ नहीं दिखाऊंगा : मधुर भंडारकर

indu

लाइव सिटीज डेस्क : राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता मधुर भंडारकर अपनी आगामी फिल्म ‘इंदु सरकार’ को लेकर हर तरह के स्पष्टीकरण देकर थक गए हैं. यह फिल्म 1975 में देश में लगाए गए आपातकाल पर आधारित है. मुर की समीक्षकों द्वारा सराही गई कई फिल्में पहले भी सेंसर बोर्ड की आपत्ति के दायरे में आ चुकी हैं. देखा जाए तो जिस प्रकार से देखा जाए तो पूर्व में मधुर भंडारकर की फिल्म इंदु सरकार पर राजनीती शुरू हो गई है व जिसके कारण हमारे फिल्म निर्देशक काफी दुखी व आहत है. अब इस फिल्म का एक सॉन्ग भी रिलीज हो गया है. जिसके बोल है ‘दिल्ली की रात’ आप भी निहारिये फिल्म के इस सॉन्ग को. बता दे कि अपनी इस फिल्म के चलते मधुर को काफी बाते सुनने को मिल रही है.

 

भंडारकर ने कहा, ‘जैसे ही मुझे सेंसर बोर्ड से लिस्ट मिल जाएगी तो मैं इस बारे में अपनी टीम से बात करूंगा उसके बाद ही ट्राइब्यूनल या रिवाज़िंग कमिटी के पास जाऊंगा. मुझे सेंसर बोर्ड के ये कट मंजूर नहीं हैं. इन शब्दों को काटने की कोई जरूरत ही नहीं हैं क्योंकि इन्हें हटाने पर फिल्म का मूल संदेश प्रभावित हो जाएगा’.

उन्होंने कहा कि वह आरएसएस, कम्युनिस्ट जैसे शब्द नहीं हटाएंगे क्योंकि इन्हें तो सामान्य तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है. भंडारकर ने कहा, ‘हम इन शब्दों को रोजाना इस्तेमाल करते हैं और फिल्म में किसी भी तरह की आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल नहीं किया गया है. इस फिल्म के लिए मैंने काफी रिसर्च किया है तो आखिर उसे मैं फिल्म में इस्तेमाल क्यों नहीं कर सकता?’

indu
दूसरी ओर आपको बताते चले की इस फिल्म का विरोध कर रहे मुंबई कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष संजय निरुपम ने भंडारकर की फिल्म ‘इंदु सरकार’ का विरोध करते हुए मांग की थी कि सेंसर बोर्ड के पास भेजे जाने से पहले यह फिल्म उन्हें दिखाई जाए. इस मुद्दे पर भंडारकर ने कहा, ‘मुझ पर सब तरफ से हमला किया जा रहा है. कोई इस फिल्म को देखना चाहता है और एक पॉलिटिकल पार्टी इसके 2-3 मिनट के ट्रेलर के ही पीछे पड़ गई है. उन्हें पहले पूरी फिल्म देखनी चाहिए उसके बाद फैसला लेना चाहिए.

यह भी पढ़े – सलीम की बहादुरी को सोनू निगम ने सराहा, देंगे 5 लाख रुपये का ईनाम
अर्जुन कपूर के साथ क्यों फिल्म नहीं करना चाहतीं सोनाक्षी सिन्हा