सलमान खान की ‘ट्यूबलाइट’ के कटे सीन, अब सिर्फ 2 घंटे 16 मिनट की होगी फिल्म

tubelight

लाइव सिटीज डेस्क : सलमान खान की ट्यूबलाइट पहले दो घंटे 35 मिनट की थी लेकिन अब पोस्ट प्रोडक्शन के सारे काम के बाद इसे काटकर 2 घंटे और 16 मिनट कर दिया गया है. सूत्रों से ये बातें सामने आई है की डीएनए को बताया- कबीर खान की फिल्में आमतौर पर काफी लंबी होती हैं जिसे कि मल्टीप्लैक्स ऑडियंस पसंद करती हैं. उनकी आखिरी फिल्म बजरंगी भाईजान करीब 3 घंटे की थी. ट्यूबलाइट को एडिट करके 2 घंटे 35 मिनट का किया गया था. लेकिन रिलीज से एक हफ्ते पहले टीम ने निर्णय लिया कि इससे 19 मिनट और काट दिए जाने चाहिए. 19 मिनट हटने से यह सलमान खान की हालिया रिलीज हुई फिल्मों की लेंथ के हिसाब से काफी छोटी हो गई है. उनकी आखिरी रिलीज सुल्तान का रन टाइम 2 घंटे 50 मिनट का था.

इससे पहले ईद के मौके पर आई बजरंगी भाईजान 2 घंटे 43 मिनट की थी. उससे पहले दिवाली पर सोनम कपूर के साथ आई प्रेम रतन धन पायो भी तीन घंटे से ज्यादा की थी. इस वजह से अब ट्यूबलाइट सलमान खान के लिए काफी यूनिक हो गई है. फिल्म के छोटे होने का फायदा निश्चित तौर पर उसे मिलेगा. ऐसा बहुत से लोग हैं जिन्हें कि लंबी फिल्में पसंद नहीं होती हैं. इस वजह से उम्मीद है ज्यादा से ज्यादा लोग फिल्म को देखेंगे. वहीं ट्यूबलाइट की बात करें तो इसमें सलमान सीधे-साधे भोले-भाले लक्ष्मण सिंह बिष्ट के रूप में नजर आएंगे. सलमान ने इस रोल के लिए कड़ी मेहनत की है.

सलमान खुद बताते हैं कि यह रोल उनके लिए आसान नहीं था. लेकिन इस दौरान उन्हें बताया कि दो खास लोगों ने इस किरदार को जिंदा करने में उनकी मदद की. डीएनए को दिए एक इंटरव्यू में सलमान बताते हैं कि यह उनकी जिंदगी का सबसे मुश्किल रोल रहा. वह कहते हैं- यह मेरा सबसे इनोसेंट कैरेक्टर है. फिल्म की स्क्रिप्ट पढ़ने के दौरान मेरे दिमाग में महेश मांजरेकर के बेटे सत्या की तस्वीर उभर रही थी. वह बहुत इनोसेंट हैं.

tubelight
हम लोग जो हैं, हमारी बॉडी लैंग्वेज करप्टेड है. वहीं यह कैरेक्टर एक बहुत इनोसेंट कैरेक्टर है. इस फिल्म में मेरे हाथों के पॉश्चर्स, मेरे चलने का तरीका बिलकुल अलग है. मुझे नहीं लग पा रहा था कि मैं ऐसा कर पाता. इसके लिए मैंने महेश को कहा कि वह मुझे सत्या से मिलाए.

यह भी पढ़ें – जब शाहरुख़ ने अनुष्का से कहा- मैं थोड़ा सा चीप हूं!