बॉलीवुड में शास्त्रीय संगीत के जादू को पुनर्जीवित करना चाहते हैं उस्ताद हिदायत खान

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : हिंदी फिल्म उद्योग में शास्त्रीय संगीत के आकर्षण को पुनर्जीवित करने के प्रयास के तहत, प्रसिद्ध सितारवादक उस्ताद हिदायत खान ने बॉलीवुड फिल्म निर्माताओं के लिए एक बड़ी पहल की है. उन्‍होंने फिल्म निर्माताओं को निशुल्क संगीत की पेशकश करने ऑफर दिया है, जिससे जो वे अपनी फिल्मों में शास्त्रीय संगीत का उपयोग कर पायेंगे. राज कपूर के जमाने से लेकर, जब हर गीत में वाद्य यंत्र को महत्व दिया जाता था. लेकिन आज के रीमिक्स युग में बड़े पैमाने पर बदलाव आया है. तकनीकी सुविधा ने शास्त्रीय संगीत की सुंदरता को दूर कर दिया. उस्‍ताद हिदायत खान शास्त्रीय संगीत के माधुर्य को दर्शकों तक पहुंचाना चाहते है.

प्रसिद्ध संगीतकार विलायत खान के बेटे, हिदायत की नसों में शास्त्रीय संगीत खून बन कर दौडता है. वह आज के सिनेमा और राष्ट्रीय स्तर और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी व्यापक पहुंच को समझते है. शास्त्रीय संगीत से संगीत को एक प्रामाणिक स्पर्श मिलेगा और आज की भावनाओं को उसमें जोड़ा जाएगा. हिदायत खान कहते हैं कि मेरे पिता जी के बाद से अब समय काफी बदल गया है और शास्त्रीय संगीत अब केवल संगीतकारों के लिए रह गया है. इसकी सुंदरता आम आदमी तक नहीं पहुंच पा रही है, इससे वे इसका आनंद नहीं ले पा रहे हैं. मुझे मुफ्त संगीत की पेशकश करने में खुशी हो रही है. फिल्मकार जो फिल्मों में शास्त्रीय संगीत के जादू को फिर से जोडना चाहते है, उन्हें मैं नि:शुल्क संगीत प्रदान करूंगा. मुझे उम्मीद है कि वे इस क्लासिक स्वाद को अपनी फिल्मों में जोड़ेंगे.

हिदायत खान को शास्त्रीय संगीत में उल्लेखनीय काम और जुनून के लिए काफी प्रशंसा मिली है. उन्होंने एलिसिया कीज़ के साथ न्यूयॉर्क में द ब्लैक बॉल चैरिटी में प्रदर्शन किया है और नादुगु चांसलर, रोनी वुड्स, अशर, जाकिर हुसैन, पीट टाउनशेंड, विल आईएम, जे जेड और डैरील जोन्स जैसे संगीतकारों के साथ सहयोग किया है. उनके पास 2019 के लिए कई काम है. जैसे, लाइव प्रदर्शन, व्याख्यान-प्रदर्शन और संगीत थिएटर के लिए कम करना आदि.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*