प्राइवेट नौकरी करने वालों के लिए जरूरी खबर, ये 5 काम जरूर करें, नहीं होगी कभी परेशानी

लाइव सिटीज डेस्क : आजकल प्राइवेट नौकरी करने वालों की सबसे पहले च्वाइस सैलरी को लेकर रहती है कि उन्हें कितनी सैलरी मिलेगी. जब लोग अपनी पढ़ाई पूरी कर लेते हैं और पहली जॉब लगती है और पहली सैलरी मिलती है तो वो बहुत खुश दिखते हैं. इस खुशी में कई बार वह बिना सोचे समझे ही पैसे खर्च देते हैं. लेकिन यह नहीं सोचते कि जो पैसा खर्च किया जा रहा है वह सही है या नहीं.

अगर आप भी प्राइवेट नौकरी कर रहे हैं तो ऐसा मानने की भूल कतई न करें कि ये नौकरी हमेशा बरकरार रहेगी. अगर कंपनी आपको अचानक नौकरी छोड़ने का नोटि‍स थमा दे तो आप क्‍या करेंगे. हम बताते हैं आपको वो 4 काम की बातें जो आपके बुरे वक्त में काम आएगी.

1. सैलरी बैकअप तैयार करें

अगर आप प्राइवेट नौकरी में हैं तो सबसे पहले इस बात का अंदाजा लगाएं कि अगर आपकी नौकरी चली गई तो नई नौकरी ढूंढने में आपको कितना वक्त लगेगा. एक्‍सपर्ट कहते हैं कि हमें 4 से 6 महीने का वक्त अपने हाथ में लेकर चलना चाहिए. यानी आपको 4 से लेकर 6 महीने का सैलरी बैकअप तैयार करना होगा.

2. फैमि‍ली के लि‍ए करें प्‍लान

प्राइवेट नौकरी करने वाले हर शख्‍स के लिए दूसरा सबसे जरूरी स्टेप है टर्म इंश्‍यारेंस. आपको कुछ हो जाए तो आपके परिवार का क्या होगा. बच्‍चे कैसे पढ़ेंगे, घर कैसे चलेगा. इस बात को ध्‍यान में रखते हुए हर नौकरी पेशा करने वाले शख्‍स को कोई न कोई टर्म प्लान जरूर लेना चाहिए. जिससे आपके परिवार को तुरंत आर्थिक मदद मिल जाए.

3. PPF से फंड बनाएं

पीपीएफ यानी पब्‍लिक प्रॉविडेंड फंड सरकारी योजना है और इसमें एक समय बाद रुपया बेहद तेज रफ्तार से बढ़ता है. इस खाते को आप किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफि‍स में खोल सकते हैं. इसमें मौजूद इंटरेस्‍ट रेट 7.6% है. यह हर ति‍माही रि‍वाइज होता है. इसमें आप केवल 15 साल तक ही पैसा जमा कर सकते हैं.

4. मेडि‍कल इंश्‍योरेंस कराएं

आजकल बड़े अस्‍पताल में इलाज करवाना कि‍सी के लि‍ए आसान नहीं है. मेडि‍क्‍लेम पॉलि‍सी एक ऐसा इंस्‍ट्रूमेंट है जो कम कमाने वाले और उसके परि‍वार को भी महंगे से महंगे अस्‍पताल में इलाज कराने की सुवि‍धा मुहैया कराता है. अगर आपको कंपनी की तरफ से मेडि‍क्‍लेम मि‍ला है तो एक बार उसका रीव्‍यू जरूर करें.

5. फिजूलखर्ची से बचें

एक्सपर्ट्स के अनुसार प्राइवेट नौकरी क्या हर किसी को फिजूलखर्ची से बचना चाहिये, क्योंकि कई बार इन्हीं फिजूलखर्चियों की वजह से आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.इसलिये जितना संभव हो, अपने बजट में रहे, फिजूलखर्ची से बचें.

About Ritesh Sharma 3227 Articles
मिलो कभी शाम की चाय पे...फिर कोई किस्से बुनेंगे... तुम खामोशी से कहना, हम चुपके से सुनेंगे...☕️

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*