मोटापे से परेशान हैं तो ढोकला खाइए, डायबिटीज में भी मिलेगा फायदा

लाइव सिटीज डेस्क : टेस्टी और स्पंजी ढोकला सबके फेवरेट हैं. खासकर लोग इसे नाश्ते में खाना प्रेफर करते हैं. गुजराती लोग की ढोकला के प्रति दीवानगी के बारे में बताने की जरूरत नहीं है. लेकिन अब यह गुजराती डिश भारत के सभी लोगों को तृप्त करता है. ढोकला अपने स्वाद के साथ हेल्थ बेनीफिट्स के लिए भी जाना जाता है. इसे खाने से हमारे शरीर में नए सेल्स बनते हैं. क्योंकि, ढोकला ज्यादातर बेसन से बनता है. इसमें काफी मात्रा में फाइबर और आयरन होता है. इससे हमारी बॉडी को एनर्जी मिलती है. आइए ढोकला से जुड़े कुछ और हेल्थ बेनीफिट्स के बारे में जानते हैं…

टेस्टी और स्पंजी ढोकला



मोटे लोग को वजन घटाने के लिए कई तरह की चीजें ट्राई करते रहते हैं. जिम से लेकर एक्सरसाइज पर ज्यादातर लोग असफल ही होते हैं. लेकिन गुजराती डिश ढोकला में तेजी से आपके वजन घटाने की क्षमता है. और जिसे हर कोई ट्राई कर सकता है. आप सोच रहे होंगे कैसे ? तो जनाब जान लें कि ढोकले में फैट बिल्कुल भी नहीं होता है.

मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है


ढोकले के नियमित सेवन से बॉडी का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और शरीर की एक्स्ट्रा चर्बी घटती है. इसके अलावा ढोकला खाने से पेट संबंधी भी कोई रोग नहीं होता. अगर आप 1 हफ्ते तक भी ढोकले का नाश्ते करेंगे तो आपको अपने वजन में काफी अंतर दिखेगा. इसके अलावा ढोकला खाने से से हमारे शरीर में नए सेल्स बनते हैं. क्योंकि ढोकला ज्यादातर बेसन से बनता है. इसमें काफी मात्रा में फाइबर और आयरन होते हैं.

बहुत ही कम कैलोरी होती है ढोकले में


स्टीम करके बनाये जाने की वजह से 100 ग्राम ढोकला में 160 ग्राम कैलोरी होती है. इस डिश में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा भी पाई जाती है. ढोकला में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जिस वजह से यह डायबिटीज के मरीजों के लिए बेहतर डिश है. इसके अलावा ढ़ोकले को खमीरी भोजन भी कहा जाता है. खमीरी भोजन बनाने के लिए आटा पहले ही भींगा कर छोड़ दिया जाता है, ताकि इसमें खमीर पैदा हो सके. ऐसे खमीर वाले भोजन मोटापा कम करने में मदद करता है.