351वां प्रकाश पर्व : मिनी पंजाब बनी पटना की गुरु की नगरी, संगतों में गजब का उत्साह, देखें Exclusive तस्वीरें

पटना सिटी में पंज प्यारे

पटना (जुल्कर नैन) : पटना सिटी पूरी तरह मिनी पंजाब में तब्दील हो गयी है. 351वें प्रकाश पर्व पर बाहर से आये संगतों के साथ ही स्थानीय लोगों में गजब का उत्साह देखा जा रहा है. संत, सिपाही, साहित्यकार गुरु गोविन्द सिंह महाराज के 351वें प्रकाशोत्सव पर शुक्रवार की दोपहर से शुरू हुए अखंड पाठ का समापन रविवार को हुआ. यह अखंड पाठ गायघाट स्थित बड़ा गुरुद्वारा में चल रहा था. अरदास और आरती के बाद सैंकड़ों की संख्या में मौजूद श्रद्धालुओं ने पाठ सुमिरन किया. तख्त साहिब में भी शनिवार को देर रात अखंड पाठ किया गया. वहीं सोमवार की देर रात गुरु गोविंद सिंह महाराज का जन्मोत्सव मनाया जाएगा.

प्रकाश पर्व के शुकराना समारोह को लेकर गुरुनगरी सतरंगी बल्बों की रोशनी से जगमग कर रहा है. बाइपास व कंगन घाट में बनी टेंट सिटी में लोगों की भीड़ बढ़ने लगी है. विभिन्न प्रदेशों से करीब 40 हजार सिख श्रद्धालु पटना साहिब पहुंच चुके हैं. श्रद्धालुओं के स्वागत में पटना साहिब स्टेशन को भी सजाया गया है. शनिवार की सुबह तख्त साहिब से बड़ी प्रभातफेरी निकाली गई, जो अशोक राजपथ, मोर्चा रोड, पटना साहेब स्टेशन, गुरु गोविंद सिंह पथ होते हुए तख्त साहिब पहुंची.



प्रकाशोत्सव को लेकर रविवार को गायघाट गुरुद्वारा से नगर कीर्तन निकाली गई. इस नगर कीर्तन में निहंग सिख के जत्थे के द्वारा नगर कीर्तन में 40 घोड़े नगर कीर्तन के आगे आगे चल रहे थे तो कोई तीर अंदाजी कर रहा था. कोई टॉप से पटाखे फोड़ रहा था तो कोई घोड़े की रेस लगा रहा था. कोई हाथी के सूंढ़ उठा कर के लोगों को सलामी दे रहा था. स्कूल के बच्चों ने मौके पर मार्च पास्ट किया. इसमें गुरु गोविंद सिंह गर्ल्स स्कूल, गुरु गोविंद सिंह बॉयज स्कूल, गुरु गोविंद सिंह गर्ल्स हाई स्कूल, गुरु गोविंद सिंह गर्ल्स हाई स्कूल सहित अन्य स्कूलों के बच्चे एवं बच्चियां शामिल थीं.

प्रकाश पर्व पर करबत दिखाते श्रद्धालु

उधर कार सेवा वाले बाबा संत कश्मीर सिंह भूरिवाले के नेतृत्व में बाललीला गुरुद्वारा में रिहाईश व लंगर का बेहतर प्रबंध किया गया है. गुरुनगरी आने वाले श्रद्धालुओं के लिए गंगा में जहाज की फेरी शुरू की गयी है. श्रद्धालु जहाज के जरिए गंगा की सैर कर रहे हैं. कंगन घाट से गायघाट गुरुद्वारा तक की सेवा दी जा रही है. कंगनघाट पर डीएम संजय अग्रवाल, पूर्व मुख्य सचिव जीएस कंग ने फेरी सेवा की शुरुआत की. मौके पर बर्मिंघम से आए बाबा मोहिन्दर सिंह मौजूद थे.

प्रकाश पर्व पर पटना सिटी में विहंगम नजारा

श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए कोलकाता से तीन जहाज मंगाए गए हैं. दशमेश पिता के प्रकाश पर्व में गुरुवाणी की धुन पेश करने पंजाब से केवल पाइप बैंड का दल पटना साहिब पहुंच चुका है. बैंड मास्टर केवल सिंह के नेतृत्व में शरण सिंह, दलजीत सिंह, अजय सिंह समेत नौ लोग टीम में शामिल हैं, जो पटना साहिब के विभिन्न गुरुद्वारों में धुन बजा रहे हैं. आज नगर कीर्तन में गुरुवाणी की बोल पर टीम धुन पेश किया.

स्कूली ​बच्चियों ने भी बढ़ चढ़ कर लिया भाग

गायघाट स्थित बड़ा गरुद्वारा में 24 दिसंबर की सुबह से दीवान सजा गया था. दीवान की समाप्ति के बाद गुरुजी का अटूट लंगर चला. इसके बाद दोपहर में गुरु ग्रंथ साहिब की छत्रछाया और पंच प्यारे की अगुआई में झूलते निशान साहिब के साथ नगर कीर्तन निकाला गया. इसमें देश-विदेश से लाखों की संख्या में आए श्रद्धालु, बैंड बाजे, हाथी-घोड़े, ऊंट, स्कूली बच्चों की बैंड पार्टी, गतका पार्टी,शब्दी जत्थे, झाड़ू जत्था के साथ कई संत चार किलोमीटर का सफर तय कर अशोक राजपथ होते हुए गुरुजी की जन्मस्थली तख्त साहिब पहुंचा. नगर कीर्तन में निहंग सिखों का जत्था ने अदभुत कलाबाजी दिखायी.

देखें अन्य तस्वीरें