भारतीय राज्य जो अपने एंप्लाइज को देते हैं सबसे ज्यादा पगार और साथ में ढ़ेर सारी छुट्टियां

लाइव सिटीज डेस्क : इस दुनिया में हर इंसान पैसे कमाने के लिए कोई न कोई काम करता है. कहीं कोई नौकरी कर रहा है तो कहीं कोई बिजनेस. अगर आप नौकरी करने वालों की लिस्ट में शामिल होते हैं और आप दिल्ली या मुंबई में काम करते हैं तो यह खबर आपके लिए ही हैं.

दरअसल, वर्ल्ड बैंक ने दिल्ली और मुंबई में जॉब करने वालों को देखते हुए एक रिपोर्ट जारी की है, जिसके मुताबिक मुंबई की अपेक्षा दिल्ली में काम करना ज्यादा फायदेमंद है. लेकिन इसके साथ ही ये भी जान लें कि दिल्ली में आपको छुट्टियां कम मिलती हैं. छुटियों के मामलें में मुंबई ज्यादा अच्छा है क्योंकि मुंबई में दिल्ली के मुकाबले ज्यादा छुट्टियां दी जाती हैं.

लेकिन अगर आप एम्प्लायर हैं तो दिल्ली की अपेक्षा आप मुंबई को प्राथमिकता देंगे. इसके पीछे वजह कम तनख्वाह नहीं बल्कि यह है की मुंबई में वेतन के मुकाबले कामगार ज्यादा हुनर वाले होते हैं.

वर्ल्ड बैंक की कारोबारी सुगमता रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि दिल्ली के किसी सुपरमार्केट में एक कैशियर को कम से कम 217.6 डॉलर मिलते हैं जो मौजूदा दर के हिसाब से करीब 14000 रुपये बैठते हैं. वहीं मुंबई में इसी तरह का काम करने वाले एक वर्ष के अनुभवी कामगार को मिलने वाले 8650 रुपये से 60 फीसदी अधिक है.

वर्कर को अधिक तनख्वाह के एवज में ज्यादा दिन काम करना पड़ता है. मुंबई में जहां सालाना ‘पेड लीव’ की संख्या 21 है वहीं दिल्ली में 15. लेकिन सुपरमार्केट के नजरिये से देखें तो वैल्यू एडिशन के हिसाब से मुंबई में काम करना ज्यादा फायदेमंद है.

बता दें कि मुंबई में न्यूनतम मजदूरी कई विकासशील देशों के मुकाबले बहुत कम है, जैसे मैक्सिको सिटी (152 डॉलर), वियतनाम (168 डॉलर) और कुवैत ($199) है. वहीं देश की राजधानी बैंकाक, शंघाई, जकार्ता, कुआलालंपुर और मनीला की तुलना में ज्यादा महंगा देश है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*