7 फीट 1 इंच वाले ‘द ग्रेट खली’ को ढाई रुपए के लिए निकाला था स्कूल ने,आज हैं इतने करोड़ के मालिक

लाइव सिटीज डेस्क : कहते हैं इंसान अपने दम पर ही ऊंचाई हासिल कर सकता है. ऐसा कर दिखाया भारत की शान ‘द ग्रेट खली’ ने. खली आज के समय में भारत ही नहीं दुनिया भर में फेमस हो चुके हैं. आज उनके चाहने वालों की कोई कमी नहीं है. इस बीच वो देश में कुश्ती को बढ़ावा देने के लिए कई तरह के प्रयास में लगे हुए हैं. डब्ल्यूडब्ल्यूई के विश्व हैवीवेट चैम्पियन और भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले दलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से सौजन्य भेंट की.



राज्य में कुश्ती को बढ़ावा देना चाहते हैं

इस मौके पर खली की इच्छा पर चौहान ने राज्य में कुश्ती को बढ़ावा देने का आश्वासन दिया. आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, चौहान ने खली का स्वागत करते हुए उन्हें भारत का गौरव बताया, तो खली ने मध्य प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के प्रयासों के लिए मुख्यमंत्री चौहान की सराहना की. उनके आग्रह पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कुश्ती को बढ़ावा दिया जाएगा. खली ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री राज्य में कुश्ती को बढ़ावा देना चाहते हैं, इसके लिए प्रयास व सहयोग का आश्वासन भी उन्होंने दिया है.

आइए जानते हैं खली के बारे में कुछ महत्वपुर्ण बातें. बहुत कम लोग होंगे जानते होंगे कि खली की जिंदगी में ऐसा समय आया था जब स्कूल की फीस नहीं भर सके थे. खली ने अपनी किताब में कहा कि 1979 में गर्मियों के मौसम में खली को स्कूल से निकाल दिया गया था. क्योंकि बारिश नहीं होने से फसल सूख गई थी और घरवालों के पास उनकी फीस भरने के पैसे नहीं थे.

स्कूल में शिक्षक ने जब खली को सारे बच्चों के सामने अपमानित किया

स्कूल में शिक्षक ने जब खली को सारे बच्चों के सामने अपमानित किया तो खली को बेहद बुरा लगा. साथ ही उनके साथ पढ़ने वालों बच्चों ने भी उनका मजाक उड़ाया था, जिसके बाद खली ने स्कूल से अपना नाता तोड़ लिया और वापिस कभी स्कूल नहीं गए और मजदूरी में लग गए.

खली के घर में पैसों की कमी थी, इसलिए वो अपने पिता के कामों मे हाथ बंटाने लगे. जब वो 8 साल के थे तब वो अपने पिता के साथ गांव में दिहाड़ी मजदूरी करने लगे, उन्हें मजदूरी करने के लिए दिन के पांच रुपये मिलते थे, जो उनके लिए बहुत बड़ी रकम थी, क्योंकि उन्हें महज ढाई रुपये के लिए स्कूल से निकाला गया था.

पंजाब पुलिस में रहते हुए बॉडीबिल्डिंग

खली पंजाब पुलिस में रहते हुए बॉडीबिल्डिंग करते थे, खली ने 1997 और 1998 में ‘मिस्टर इंडिया’भी रह चुके हैं. द ग्रेट खली की प्रतिभा से भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम बेहद प्रभावित हुए थे, कलाम ने 2005 में खली को राष्ट्रपति भवन बुलाकर उनसे मुलाकात भी की थी.

खली ने अपनी मेहनत से आज वो मुकाम हासिल किया है जिसका सपना हर कोई देखता है. खली के पास अपना खुद का घर है, साथ ही फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार साल 2016 में उनकी कुल कमाई करीब 96 करोड़ रुपये थी.

आपको बता दे, खली ने विश्व हैवीवेट चैंपियनशिप का खिताब भी अपने नाम किया है. खली बिग बॉस में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा चुके हैं. साथ ही उन्होंने अपने पैसों से अपने गांव में एक पहलवानी की संस्था खोली है.