परवल की तरह दिखती है ये सब्जी, इसके फायदे हजारों खर्च करने के बाद भी नहीं मिल पाएंगे

लाइव सिटिज डेस्क : कुंदरू या कुंदुरी का वैज्ञानिक नाम कोकसीनिया कॉर्डिफोलिया (Coccinia Cordifolia) है. इसे आयुर्वेद में बिंबी फल के रूप में जाना जाता है. यह एक उष्णकटिबंधीय (Tropical) बेल है. सबसे पहले इसकी खेती अफ्रीका और एशिया में की गई थी. इस ग्रीन सब्ज़ी का उपयोग लोग सब्जियों के रूप में खाना पकाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं, पकने पर ये ताजे भी खाए जाते हैं. अगर आपको कुंदुरी की सब्‍जी खाने में पसंद है तो आप कुंदुरी की सब्‍जी खाकर अपना ब्लड शुगर नियंत्रित रख सकते हैं. परवल की तरह दिखने वाला कुंदुरी की सब्‍जी को खाने के कई सारे फायदें हैं.

कुंदुरी में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, विटामिन बी 2 (रिबोफाल्विन) विटामिन बी 1 (थायमिन), विटामिन सी, विटामिन बी 3 (नियासिन) जैसे पोषक तत्‍व पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए काफी फायदेमंद हैं. कुंदरू की सब्‍जी को तिंदूरी भी कहा जाता है. यह ककड़ी वर्ग यानी कुकुरबिटेसी परिवार की सदस्य है. इसे पुरानी लताओं की कटिंग से बोया जाता है.

1. मोटापे से बचाता है

कुछ शोध बताते हैं कि कुंदुरी में एंटी-ऑबेसिटी गुण पाए जाते हैं. ये गुण प्री-एडीपोसाइट्स को वसा कोशिकाओं में परिवर्तित करने से रोकता है. इस पौधे में चयापचय दर को बढ़ाने की क्षमता भी होती है और साथ ही यह ब्‍लड शुगर के स्‍तर को भी कम करने में मदद करता है. इस पौधे में संभावित एंटी-एडीपोजेनिक एजेंट की उपस्थिति मोटापे से प्रेरित चयापच रोगों को कम करने के लिए उपयुक्‍त हो सकती है.

2. उतर जाता है चश्‍मा

कुंदुरी की सब्‍जी को अधकच्‍ची पकाकर लगातार कुछ दिनों तक खाने से आंखों से चश्मा तक उतर जाता है. साथ ही माना जाता है कि इसकी सब्जी के निरंतर उपभोग से बाल झड़ने का क्रम बंद हो जाता है. यह गंजेपन से भी बचा जा सकता है.

3. कम होती है डायबिटीज

कुंदरू खाने से डायबिटीज के नए रोगियों में शुगर का लेवल तकरीबन 16 फीसदी तक गिर जाता है. एक शोध में भी ये बात साबित हो चुकी है. कुंदुरी डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण साबित हो सकता है. यह सब्जी ऐसे मरीजों के खून से शुगर का स्तर कम कर सकती है.

4. पाचन में है मददगार

कुंदुरी में उपस्थित फाइबर, पोषक तत्‍व और फाइटोकेमिकल पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद करते हैं. कुंदुरी पाचन एंजाइमों की भी मदद करता है इस कारण इसका सेवन करने से पाचन संबंधित विभिन्‍न समस्‍याएं दूर होती हैं.

5. इम्‍यून सिस्‍टम बढ़ाता है

विटामिन सी, विटामिन बी2, विटामिन बी1 और विटामिन बी3 ये सभी कुंदुरी में अच्‍छी मात्रा में उपलब्‍ध होते हैं. विटामिन सी और बी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए जाने जाते हैं. यदि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत रहती है तो आपका शरीर बहुत सी बीमारियों को स्‍वत: ही खत्‍म कर देता है और जो आपको विभिन्‍न प्रकार के संक्रमणों से बचाता है.

6. प्रेगनेंसी में हड्डियो के लिए बढि़या

कुंदुरी में अच्‍छी मात्रा में केल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है. इसके अलावा इसमें आयरन होता है. प्रेगनेंसी के दौरान इसके सेवन से महिलाओं की हड्ड‍ियां मजबूत तो बनाता है इसके साथ खून की कमी को भी पूरा करता है.

7. मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी है मददगार

कुंदुरी में उचित मात्रा में राइबोफ्लेविन और नियासिन होते हैं जो कि मस्तिष्‍क से विभिन्‍न हार्मोन के कामकाज और उनके स्राव से संबंधित होती हैं जो सीधे मूड से संबंधित होते हैं. आमतौर पर यह माना जाता है कि रि राइबोफ्लेविन की पर्याप्‍त मात्रा बाले खाद्य पदार्थों का सेवन कर स्‍वाभाविक रूप से अवसाद का इलाज किया जा सकता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*