बदलाव: अब मूस वाले हाथों में होगा माउस

मुजफ्फरपुर (डॉ कौशिक): महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण के आदापुर प्रखंड के धबधबा मुसहरी टोला में ‘अहिंसा फाउंडेशन’ की ओर से अहिंसा पाठशाला की शुरुआत हुई. संस्था के संस्थापक वरीय समाजसेवी श्री काशीनाथ तिवारी ने कहा कि संस्थागत मूल थि्म होगा. मूस वाले हाथों में माउस यानी मूस पकड़ने में दक्ष हाथ माउस पकड़ने में दक्ष होंगे और पूरे देश और दुनिया को घर बैठे देखेंगे समझेंगे यानी उन्हें कंप्यूटर शिक्षा देकर हाईटेक किया जाएगा.



फिलहाल अभियान के पहले चरण में उन बच्चों को एक साथ बैठकर पढ़ने की आदत लगाई जा रही है. सुबह इस बस्ती के बच्चे एक साथ बैठेंगे पढ़ने की रूचि उनके अंदर जगेगी. फिर जो बच्चे जिसे स्कूल से जुड़े हैं वह नियमित पढ़ने जाएं, यह पहल होगी. उन्होंने बताया कि अहिंसा फाउंडेशन चंपारण की माटी बुद्ध वाल्मीकि गांधी के सिद्धांतों को मजबूत करेगी और आने वाले दिनों में संस्था के द्वारा आदापुर प्रखंड में विभिन्न तरह के समाजिक कार्यों को गति दी जाएगी.

यह भी पढ़ें- स्मार्ट हैं, स्टाइलिश हैं, रियल स्टार हैं ये बेटियां...
शहरीकरण में गुम हो रही कोसी की काश्तकारी

unnamed-17

फिलहाल मूर्तियां पंचायत को मॉडल के रूप में चयन किया गया है जिसके तहत मुसहरी टोला के बच्चों के लिए अहिंसा पाठशाला शुरू है. इस अवसर पर सामाजिक कार्यकर्ता मुखिया पति मोदेलाल पासवान अहिंसा फाउंडेशन के प्रखंड समन्वयक विक्रमादित्य प्रसाद, भकेलु माझी समेत माझी सहित बड़ी संख्या में बच्चे व अभिभावक शामिल हुए.