नपुंसकता-नामर्दी से परेशान लोग न लगायें इधर-उधर का चक्कर, यहां मिलेगा पूरा समाधान

नपुंसकता अथवा नामर्दी का अर्थ है मैथुन कार्य में असमर्थ होना. पुरुषों में होनेवाली यह एक विचित्र लैंगिक व्याधि है, जिसमें लिंग रचना की दृष्टि से पूर्ण होते हुए भी क्रिया की दृष्टि से एकदम शिथिल एवं व्यर्थ रहता है. इसमें पुरुष के शिश्न में स्त्री समागम करने की शक्ति बिल्कुल नहीं रहती तथा पुरुषांग पूर्णतया शिथिल रहता है. सामान्यतः नपुंसक उस व्यक्ति को माना जाता है, जो स्त्री से संभोग करने में सक्षम न हो.

इसके अलावा उस व्यक्ति को भी नपुंसक की श्रेणी में रखा जाता है, जो पत्नी को सेक्स कमजोरी के कारण शारीरिक सुख न दे सके. आयुर्वेद ग्रंथ चरक संहिता के अनुसार निरंतर संभोग की प्रबल इच्छा रहने पर तथा प्रिय स्त्री के पास होने पर भी, लिंग में शिथिलता के कारण जो पुरूष मैथुन क्रिया में विफल रहता है, उसे नपुंसक कहा जाता है.

ऐसा मैथुन में प्रवृत्त होने पर पुरूष के लिंग में कड़ापन न आने के कारण होता है. ऐसी स्थिति में उसकी सांस फूलने लगती है और उसे पसीना आने लगता है. आधुनिक विज्ञान भी लिंग के उत्थान में असफल रहने को ही नपुंसकता कहता है. यह समस्या अब अधिकतर पुरुषों में देखा जाने लगा है जिनमें लिंग के उत्थान न होने के कारण वे खुद भी सेक्स से वंचित रहते हैं और अपनी पत्नी को भी सेक्स सुख नहीं दे पाते. इस रोग में उम्र अब कोई मायने नहीं रखता. कम उम्र के नौजवान भी आजकल इस रोग से पीड़ित हो जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें :

यौन रोगों से हर कोई रहता है परेशान, यहां जानिये सभी अनकहे सवालों के जवाब

डायबिटीज से बहुत प्रभावित हो सकती है आपकी सेक्स लाइफ, यहां जानिये पूरा इलाज

नपुंसकता के कारण – नपुंसकता दो प्रकार की होती है :

1. प्राथमिक नपुंसकता – इस प्रकार की नपुंसकता में पुरूष को पूरे जीवन में कभी भी लिंग में तनाव नही आता है. इसी कमी के कारण वह कभी भी किसी भी स्त्री से शारीरिक संबंध नहीं बना पाता. इसे प्राथमिक नपुंसकता माना गया है.

2. द्वितीयक नपुंसकता – इनमें कुछ कारण मानसिक हो सकते हैं एवं कुछ शारीरिक.

शारीरिक कारणों में प्रमुख हैं – शारीरिक थकान, हार्मोन संबंधी असामान्यता, तंत्रिका तंत्र संबंधी रोग, जननांग संबंधी विकार, यकृत संबंधी रोग, अल्कोहल, धूम्रपान आदि.

मानसिक कारणों में – सेक्स क्रिया की समस्या का भय, सेक्स की अज्ञानता, सेक्सुअल वार्तालाप का न होना.

अन्य कारणों में – बचपन में की गई गलतियों और भ्रामक विचारधारा भी नपुंसकता के लिए जिम्मेदार हो सकती है. स्वप्नदोष और धातु रोग को भी नपुंसकता के लिये जिम्मेदार माना जाता है.

अन्य सामान्य कारण –

  • कभी-कभी पति-पत्नी के बीच किसी भी कारण से मनमुटाव होता है या पारिवारिक वातावरण सुखमय नहीं होता. या दोनों एक दूसरे को शारीरिक और मानसिक रूप से पसंद नहीं करते, तब भी नपुंसकता की स्थिति पाई गई है.
  • कई बार लंबे समय तक अलगाव यानी ब्रह्मचर्य का पालन करने पर, लम्बी बीमारी या तलाक के बाद भी नपुंसकता देखी गयी है.
  • शीघ्रपतन लम्बे समय तक रहने से व ज्यादा हस्तमैथून करने से भी यह रोग होता है. छोटी उम्र में अत्यधिक सेक्स में लिप्त रहने व अंडकोषों में जन्म से कोई नुक्स होने से भी नपुंसकता का शिकार हो जाता है.

नपुंसकता के लक्षण –

  • लिंग में थोड़ा तनाव आता है, पर स्त्री के पास जाते ही खत्म हो जाता है. संभोग की इच्छा होते हुए भी करने में असमर्थता. कोशिश करने पर भी लिंग में पूरा तनाव नहीं आ पाता है. सहवास करने की कोशिश करते ही शरीर से पसीना निकलना शुरू हो जाता है. सांस फूलने लगती है और दिल घबराने लगता है.
  • ऐसे पुरूष अपनी कमजोरी को छुपाने के लिए स्त्री पर अधिक गुस्सा करता है.
  • बदन और सिर में दर्द रहता है. रोगी में घोर निराशा आ जाता है. रोगी एकांत में रहना ज्यादा पसंद करता है.

क्या है चिकित्सा

अनुसंधानों से पता चलता है कि पौष्टिक भोजन के अभाव में उत्पन्न हुई शारिरिक दुर्बलता के कारण न केवल व्यक्ति की उर्वरता ही कम होती है बल्कि उसकी यौन सक्रियता भी घट जाती है. नपुंसकता के रोगियों के लिए संतुलित भोजन का बड़ा महत्व है. इनलोगों को पौष्टिक भोजन देना चाहिए. आहार में सूखे मेवे, दूध, दही, घी, हरी सब्जियां, दालें, अंडे व मांस ले सकता है. मछली का उपयोग सर्वोत्तम रहता है. पौष्टिक भोजन के साथ-साथ व्यायाम भी आवश्यक है.

रोगी स्वयं मेडिकल स्टोर से सेक्स संबंधित दवा न लें. कई रोगी बिना चिकित्सीय सलाह के मेडिकल स्टोर पर जाकर सेक्स बढ़ाने वाली दवा लेकर सेवन करते हैं जो काफी नुकसानदेह साबित होता है. आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में इस बीमारी का सफल व स्थाई इलाज है. योग्य डिग्रीधारी चिकित्सकों से मिलकर ही औषधि का प्रयोग करें.

इससे जुड़ी किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए पटना के जाने-माने सेक्स रोग विशेषज्ञ डॉ. मधुरेन्दु पाण्डेय (बी.ए. एम.एस) से संपर्क किया जा सकता है. उनका कांटेक्ट नंबर है : 9431072749/9835081818. उनके क्लिनिक का पता है : मनोरमा मार्केट, बंगाली अखाड़ा, डी एन दास लेन, लंगर टोली, पटना-4, बिहार. आप इनकी ऑफिसियल वेबसाइट www.sexologistinpatna.com पर भी जाकर अपनी अप्वाइंटमेंट फिक्स करा सकते हैं.

Powered.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*