बेतिया के रमाशंकर पर बिहार को गर्व है, राष्ट्रपति के हाथों होंगे सम्मानित

teacher-bettiah

बेतिया (प्रशांत सौरभ): जिले के जाने माने शिक्षक रमाशंकर गिरी आगामी 5 सितंबर को राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कृत होंगे. बता दें कि जिले से इस पुरस्कार के लिए जिले से राज्य को मोहम्मद जहीर, राजेंद्र प्रसाद और रमाशंकर गिरी का नाम भेजा गया था, जिसमें रामाशंकर गिरी के नाम को चयनित किया गया है. बता दें कि रामाशंकर गिरी संप्रति विपिन मध्य विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक है. गत वर्ष उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में उत्तम कार्य के लिये राजकीय पुरस्कार प्राप्त हुआ था, जिससे जिलेवासियों में खुशी की लहर थी. इस वर्ष राष्ट्रपति पुरस्कार की बात सुनकर जिलेवासियों में पुनः हर्ष का माहौल है.

बता दें कि रमाशंकर गिरी बगहा के शिवपूजन गिरी और फुलबासी देवी के पुत्र हैं. बगहा-1 के नेहुरा हाई स्कूल से 1979 में मैट्रिक और 1983 में इंटर करने के बाद श्री गिरी शिक्षा सेवा में आये. इसके बाद उन्होंने संस्कृत विषय से 1996 में शास्त्री और दरभंगा विश्वविद्यालय से 2005 में आचार्य की परीक्षा पास की. शिक्षा के अतिरिक्त सामाजिक कार्यों में भी श्री गिरी बहुत सक्रिय रहते हैं. संस्कृत विषय के लिए छात्रों के हित में उन्होंने सूत्रावली लिखी है, जिसमें सौ संस्कृत सूत्र लिखे हैं.

teacher-bettiah

रमाशंकर गिरी ने बताया कि वह महात्मा गांधी को अपना आदर्श मानते हैं और इसलिए शैक्षणिक कार्यों के अतिरिक्त सामाजिक कार्यों में भी खूब आगे रहते हैं. इधर जिले वासियों ने इस सूचना पर रामाशंकर गिरी को बधाई दी है. यहां बता दें कि राज्य से कुल 8 शिक्षकों का नाम राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है, जिसमें जिले के रमाशंकर का नाम भी एक है. इन सभी शिक्षकों को राष्ट्रपति के हाथों शिक्षक दिवस के दिन प्रशस्ति पत्र और मेडल देकर सम्मानित किया जाएगा साथ ही 50000 की राशि भी प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़ें – इस बिहारी को गरीबी भी न रोक सकी, तीन बेटों को बनाया इंजीनियर, चौथा IAS की तैयारी में
इस जज्बे को सलाम : रिटायर होने के बाद भी दे रहें बच्चो को शिक्षा