Friendship Day : आया मौसम दोस्ती का….

लाइव सिटीज डेस्क : ऐसा कहा जाता है की दुनिया में जो आता है वह कई रिश्तों से जुड़ा होता है. लेकिन कुछ ऐसे भी रिश्ते हैं जो इंसान इस दुनिया में खुद बनाता है और वह है दोस्ती का रिश्ता. इस दोस्ती को और मजबूत तथा प्यार और विश्वास से भरने के लिए एक खास दिन भी है. वैलेंटाइन डे के दिन जहां प्रेमी जोड़े प्यार का इजहार करते हैं तो वहीं दोस्ती में निखार लाने के लिए ‘फ्रेंडशिप डे’ के दिन दोस्त अपनी दोस्ती का इजहार करते हुए दिखाई देते हैं.

studio11

इस साल भी यारों को अपनी यारी का इजहार करने का भरपूर मौका मिलेगा. हर साल भारत में अगस्त के पहले रविवार को ‘फ्रेंडशिप डे’ मनाया जाता है और इस साल 6 अगस्त को ‘फ्रेंडशिप डे’ मनाया जाएगा. लेकिन क्या आप फ्रेंडशिप डे के इतिहास के बारे में जानते हैं..? नहीं, तो आज जान लीजिए और फिर मजे से फ्रेंडशिप डे मनाइए.

फ्रेंडशिप डे का इतिहास
हर साल अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाने वाला ‘फ्रेंडशिप डे’ भारत में भी पिछले कुछ सालों से काफी पॉपुलर हो रहा है. सोशल मीडिया के बढ़ते चलन के कारण बड़ी ही धूमधाम से दोस्ती-यारी के इस दिन को भारत की युवा पीढ़ी मनाती है. लेकिन भारत से पहले दक्षिण अमेरिकी देश खासकर पैराग्वे में फ्रेंडशिप डे काफी जोरो-शोरो से मनाया जाता था. यहां 1958 में पहले अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप दिवस का भी प्रस्ताव रखा गया था. जिसके बाद शुरू में ग्रीटिंग कार्ड्स को इस दिन अपने दोस्तों को देने का बढ़ावा मिला था.

इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे
भारत के साथ कई दक्षिण एशियाई देशों में अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है तो वहीं कुछ जगह इसे अगस्त के पहले रविवार को नहीं बल्कि दूसरी तारीख को मनाया जाता है. ओहायो के ओर्बलिन में 8 अप्रैल को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. इसके अलावा भी दुनिया के कई हिस्सों में फ्रेंडशिप डे मनाने की तारीख अलग है. बता दें कि 27 अप्रैल 2011 को संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने 30 जुलाई को आधिकारिक तौर पर ‘इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे’ घोषित किया था.

यह भी पढ़ें – आप भी मिलिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की इस गाय से, लगी है सेल्फी लेने की होड़
मुंगेर पहुंच कर एक्साइटेड हैं विकास वैभव, इसी जिले से शुरू किया था कॅरियर