ऐसे बचें बरसात में चर्म रोगों से…

खगड़िया (मनीष कुमार) : चर्म रोग एक गंभीर बीमारी है और बरसात के दिनों में अमूमन होने वाले ऐसे कुछ बीमारियों से समुचित जानकारी प्राप्त कर बचा जा सकता है. ये कहना है खगड़िया जिले के परबत्ता बाजार में जनहित होमियोपैथ क्लिनिक के युवा चिकित्सक डाॅ. अविनाश कुमार का. साथ ही उन्होंने बताया कि मरीजो का समय पर इलाज होने से इस बीमारी पर आसानी से काबू पाया जा सकता है. बरसात के मौसम में चर्मरोग की बीमारियों का प्रकोप बढ़ जाता है.

studio11

विशेषकर रिंगवर्म से व्यक्ति सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं. यह टिनिआ कॉर्पोरिस के द्वारा फैलता है. जो एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन है. बरसात और बाढ़ के समय चर्मरोग से संबंधित ज्यादा बीमारी होती है. इसका मुख्य लक्षण खुजलाहट और जलन का होना है. खुजलाने के बाद लाल रंग का चकता बन जाता है. यह मुख्य रूप से सिर, गर्दन, पैर तथा शरीर के अंदरूनी हिस्सो में होता है.

प्रभावित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी यह रोग फैलता है. पीड़ित व्यक्ति से हाथ मिलाने, नमीयुक्त कपड़े पहनने, नमीयुक्त जगह पर रहने से इस रोग के पनपने की संभावनाएं बढ़ जाती है. इस रोग से बचाव के लिए शरीर की त्वचा की नियमित सफाई, सूती कपड़े का पहनना, गर्म पानी मे कपड़ो की सफाई आदि करने की सलाह उनके द्वारा दी गई.

वहीं उन्होंने बताया कि यदि कोई व्यक्ति ऐसी बीमारी से ग्रसित हो तो उन्हें होम्योपैथिक उपचार के रूप में टेल्यूरियम, सीपिया, मेजेरियम, आर्सेनिक, बैसिलिनम दवा का प्रयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में लिया जाना चाहिए.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*