जज्बा : साढ़े तीन फीट के वकील अनवर खान, लड़ चुके हैं गैंगस्टर का केस

लाइव सिटीज डेस्क : कहते हैं दुनिया में हर इनसान को सबकुछ नहीं मिल जाता. वैसे सबकी चाहत होती है की उसकी पर्सनालिटी अच्छी हो. लेकिन कभी कभी कुछ खामियां कुदरत से ही मिल जाती हैं. कुछ इनसान उसे कुदरत का अभिशाप समझ लेते हैं और अपनी जिंदगी में नकारात्मक भावना ले आते हैं. लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपनी कमियों को अपनी कमजोरी नहीं मजबूती बना लेते हैं. कुछ ऐसा ही है अनवर खान के साथ. साढ़े तीन फीट की हाइट होना अनवर खान के लिए किसी सदमे से कम नहीं था. कम हाइट के कारण परेशानी का सामना करना पड़ा. लोग अनवार का मजाक उड़ाते थे. लेकिन आज यही साढ़े तीन फीट का अनवार खान दूसरे के लिए मिसाल बन गया है.

studio11
भोपाल जिला कोर्ट के गलियारों में घूमते साढ़े तीन फीट के अनवर खान को देखकर लोग अक्सर चौंक जाते हैं. हाथ में फाइलें और काला कोट पहने जब अनवर खान कोर्ट में दाखिल होते हैं, तो लोगों की नजरें उन पर ठहर जाती है. ऐसा इसलिए है, क्योंकि अनवार खान प्रदेश के सबसे छोटे कद के वकील हैं.


साढ़े तीन फीट हाइट और 40 किलो वजन वाले अनवार के वकील बनने की कहानी बढ़ी दिलचस्प हैं. दरअसल, 17 साल पहले अनवर अपने रिश्तेदार की बाइक को छुड़वाने को लेकर पुरानी अदालत में वकील जगदीश गुप्ता से मिले थे. अनवार का कद देखकर पहले तो जगदीश गुप्ता चौंक गए, लेकिन बातचीत ने उन्हें प्रभावित किया और उन्होंने अनवार को एलएलबी करने की सलाह दी. उस समय वह बीकॉम की पढ़ाई कर रहे थे.

अनवर ने लॉ की पढ़ाई शुरू की और एलएलबी की डिग्री के बाद वकील जगदीश गुप्ता के अंडर में प्रैक्टिस भी की. अब अनवार खान एक अच्छे वकील हैं. उनके पास वकालत का 14 साल का लंबा अनुभव भी है. अनवार खान अपने सीनियर वकील जगदीश गुप्ता के साथ प्रदेश के कुख्यात बदमाश मुख्तार मलिक का केस भी लड़ चुके हैं.,

भोपाल के अशोका गार्डन में रहने वाले अनवर खान प्रदेश के सबसे छोटे वकील हैं. वो अपने साथी वकील के साथ बाइक से कोर्ट आते-जाते हैं. अनवर के सीनियर वकील जगदीश गुप्ता बताते हैं कि कोर्ट में पैरवी के दौरान अनवार को शर्म आती थी. जिला कोर्ट के वकीलों का कहना है कि अनवर को वकालत के दौरान कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. लेकिन जज और न्यायिक अधिकारियों के साथ वकीलों का भी अनवार को पूरा सहयोग मिल रहा है. अब जज भी अनवार को डायस पर बुलाकर उनका पक्ष सुनते हैं.

यह भी पढ़ें – इंसानियत की मिसाल : मुस्लिम युवक के सीने में धड़क रहा हिंदू का दिल...
मिसाल : यहां दुकानदार अपने दर्जनों स्टॉफ को देता है ईनाम