गुजरात बोर्ड में 12वीं टॉप करने वाला वार्शिल लेगा संन्यास, बनेगा जैन संत

ahmedabad_boy

लाइव सिटीज डेस्क : गुजरात की 12वीं बोर्ड परीक्षा में 99.9 फीसदी अंक पाने वाला टॉपर वार्शिल शाह आईआईटी या सीए-सीएस का सपना देखने के बजाय जैन दीक्षा लेने की तैयारी कर रहा है. 12वीं बोर्ड में टॉप करना भला किस छात्र का सपना नहीं होगा. ऐसा ही सपना था वार्शिल शाह का. वार्शिल ने इस सपने को पूरा भी किया और गुजरात बोर्ड में 99.9 प्रतिशत अंक हासिल किए. वार्शिल के माता-पिता इस उपलब्धि का जश्‍न मना ही रहे थे कि वार्शिल ने अब एक ऐसी घोषणा कर दी है, जिससे पूरा देश हैरान है.

पेशे से आयकर अधिकारी वार्शिल के पिता जिगरभाई और मां अमीबेन बेटे के फैसले से काफी खुश हैं. बड़ी बहन जैनिनी भी भाई के साथ है. चाचा नयनभाई ने बताया कि दीक्षा कार्यक्रम गांधीनगर में होगा. गौरतलब है कि पिछले महीने 27 मई को गुजरात 12वीं का रिजल्‍ट जारी किया गया था. जिसमें वार्शिल ने टॉप किया था.

ahmedabad_boy

बिजली का अधिक इस्तेमाल नहीं

जैन धर्म को मानने वाला वार्शिल का परिवार बेहद सादगी के साथ जीवन व्यतीत करता है. उनके घर में बिजली का ज्यादा प्रयोग वर्जित है, क्योंकि उनका मानना है कि बिजली बनाने में कई जलीय जीव मारे जाते हैं. शाह के घर में फ्रीज और टीवी भी नहीं है. बिजली का इस्तेमाल भी सिर्फ रात में पढ़ाई के लिए होता है.

तीन साल पहले चढ़ा आध्यात्म का रंग

नयनभाई ने बताया कि वार्शिल तीन साल पहले मुनि श्री कल्याण रत्न विजय जी के संपर्क में आया और तभी से धर्म की राह पर चल पड़ा. वह सफलता के लिए कड़ी मेहनत की बजाय शांत दिमाग को ज्यादा तरजीह देता है. वार्शिल को दीक्षा लेने के लिए अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने का इंतजार था.

यह भी पढ़ें –यह बिहार की बेटी दुबई में बढ़ाएगी देश का मान, अंडर-19 फुटबॉल टीम में हुई सलेक्ट