बिहार को गौरवान्वित किया मीनाक्षी ने, नासा में बनीं जूनियर साइंटिस्ट

meenakshi-sinha

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. जिसका उदहारण आये दिन देखने को मिलता है, बिहार की प्रतिभा आज विश्व के कोने कोने तक पहुंच गई हैं. हर तरफ बिहारियों का ही जलवा है. आज के युवा हर क्षेत्र में बिहार का नाम देश-दुनिया में रौशन कर रहे हैं. बिहार को गौरवांवित करने में यहां की बेटियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. जिसकी प्रशंसा शब्दों में करना मुश्किल है.



इस बार बिहार को गौरवांवित किया है, मुंगेर जिले की मीनाक्षी सिन्हा ने. मुंगेर के सुभाष नगर की रहने वाली मीनाक्षी सिन्हा की जिन्होंने अभावों के होने पर भी वो कर दिखाया जो सभी सुविधाओं के होने पर भी कई लोग नहीं कर पाते.

meenakshi-sinha

मिनाक्षी के स्कूल में इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं होने पर प्रैक्टिकल तो होता ही नही था, साइंस थ्योरी की पढ़ाई भी ठीक से नहीं होती है. पर विज्ञान में रुचि रखने वाली प्रतिभा की धनि मिनाक्षी ने इन सबसे बहुत ऊँचा सोच रख खुद के बल पर शोध कर नासा को भेजा. उसके शोध पर स्टडी करने के बाद नासा ने उसे 12वीं के बाद हायर एजुकेशन देने का बुलावा भेजा है और जूनियर साइंटिस्ट नहीं बनाया.

हर दस साल पर नासा साइंस के क्षेत्र में काम करने वाले बीस विलक्षण प्रतिभा की खोज करता है. नासा विभिन्न रिसर्चों पर इन साइंटिस्ट से काम करवाता है. मीनाक्षी ने बताया कि 2014 में भी दुनिया भर से जूनियर साइंटिस्ट की खोज के लिए नासा ने ऑन लाइन आवेदन मांगा था. मीनाक्षी सिन्हा ने भी इसके लिए आवेदन किया और उसका चयन दुनिया के बीस जूनियर साइंटिस्ट में हुआ है.

यह भी पढ़ें – सड़क पर 10 फ्लेवर की चाय बेचते हैं शम्भू, होटल मैनेजमेंट किया है, जल्द लांच करेंगे अपना ब्रांड
Exclusive Interview : मैथिली ने कहा- गायिकी मेरा जुनून, बनना चाहती हूं IAS

अभी मिनाक्षी नासा के साथ डार्क एनर्जी और ब्लैक होल्स के रहस्यों पर काम कर रही हैं. 12 वीं की परीक्षा समाप्त होने के बाद मीनाक्षी नासा जाकर अपने शोध का काम शुरू करेंगी.