रोजाना ये चार योगासन, आपको दिलाएंगे अनिद्रा और तनाव से राहत

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: आजकल की भाग्दौर भरी जिंदगी में रोजमर्रा की परेशानियां आगे चलकर बीमारी का रूप ले लेती हैं. इन परेशानियों को नजरअंदाज करने की बजाय अगर इनका सही उपचार खोज लिया जाए तो बड़ी तकलीफों से बचा जा सकता है. ऐसी ही बीमारी है अनिद्रा और तनाव. ज्यादा तनाव पालने से अक्सर लोग अनिद्रा के शिकार हो जाते हैं. जो आगे चलकर डिप्रेशन, बीपी और दिल की बीमारियों में बदल जाती है. लेकिन अगर आप रोजाना योग का अभ्यास करते हैं तो इस तरह की किसी भी बीमारी से आसानी से निपटा जा सकता है. तो चलिए जानें कौन से है वो योगासन जो आपको तंदरुस्त रखने में मदद कर सकते हैं.

भुजंगासन: रोजाना इस आसन को करने से फेफड़े मजबूत होते हैं. साथ ही पाचनशक्ति पर असर पड़ता है. इसे करने के लिए पेट के बल लेटने के बाद हाथों को कोहनियों से मोड़ते हुए लाए और हथेलियों के ऊपर शरीर का सारा भार छोड़कर सिर को ऊपर की ओर उठाएं.



गोमुखासन: इस आसन को करने से सांस की बीमारियां दूर होती है. सांस से जुड़े आसन करने से मन-मस्तिष्क शांति मिलती है और किसी भी तरह के तनाव दूर होते हैं. इस आसन को करने के लिए दंडासन में बैठते हुए बांए पैर को मोड़कर एड़ी को दाएं हिप के पास रखें. वहीं स्थिति दाएं पैर के साथ भी करें. अब हाथों को उठाकर एक हाथ को ऊपर की ओर से पीछे ले जाए और दूसरे हाथ को पेट के पास से पीछे की ओर ले जाकर दूसरे हाथ के पंजे को पकड़ने की कोशिश करें. गर्दन और कमर बिल्कुल सीधी रखें.

ताड़ासन: ताड़ासन को करने से सबसे आम समस्या मोटापे की दूर होती है. इसे करने के लिए पंजे के बल खड़े होकर दोनों हाथों को ऊपर ले जाकर हथेलियों को आसमान की ओर और गर्दन सीधी रखें. ये आसन ताड़ासन कहलाता है. लेकिन ये वृक्षासन के अलग होता है.

शवासन: इस आसन को करने से हाई ब्लड प्रेशन, अनिद्रा और तनाव जैसी बीमारियों को दूर करने में मदद मिलती है. पीठ के बल लेटकर समस्त अंगों को ढीला छोड़ दें. धीरे-धीरे गहरी सांस लें और महसूस करें कि नींद आ रही है. रोजाना इस आसन का 10 मिनट अभ्यास जरूर करें.