शारीरिक से लेकर मानसिक स्वास्थ्य के लिए रोज टहलना है फायदेमंद

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क: भारत में फिटनेस के परंपरागत रूपों को हमेशा ज्यादा महत्व दिया गया है. इनमें योग, दौड़ना और टहलना भारतीय लोगों के पसंदीदा व्यायाम रहे हैं. लेकिन अब व्यायाम के ये परंपरागत तरीके अपनी चमक खो रहे हैं. हालांकि यह नहीं भूलना चाहिए कि व्यायाम के ये परंपरागत तौर-तरीके लंबे समय के लिए फायदेमंद होते हैं.  इनमें से टहलना एक ऐसा व्यायाम है जिसमें कोई खास पैसा नहीं लगता और संपूर्ण फिटनेस को बनाए रखने में कई अन्य फायदे होते हैं.

शारीरिक फायदे: शारीरिक फिटनेस के लिए टहलना एक सरल लेकिन संपूर्ण व्यायाम है. इससे हृदय स्वस्थ रहता है, वजन कम होने में मदद मिलती है, गंभीर बीमारियों का जोखिम कम होता है, मजबूती आती है, रक्त का प्रवाह और शारीरिक बनावट बेहतर होती है. यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है.



कम से कम खतरा: टहलने में चोट का जोखिम कम होता है. हृदय को स्वस्थ बनाए रखने के लिए जो व्यायाम किए जाते हैं, उनमें टहलना एक बेहतरीन व्यायाम है. इसे आसानी से अपनी दिनचर्या में शामिल किया जा सकता है.

मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखता है: यह प्रमाणित हो चुका है कि शारीरिक व्यायाम से चिंता और तनाव दूर होते हैं. अकेले टहलने से आत्ममंथन का मौका मिलता है, जिससे दिमाग को साफ रखने में मदद मिलती है. टहलने से गहरी नींद आने में मदद मिलती है, जो एकाग्रता के लिए जरूरी है.

टहलना व्यायाम का सबसे प्राकृतिक ढंग है. इसके लिए किसी एक्सपर्ट से प्रशिक्षण लेने या किसी खास उपकरण की जरूरत नहीं होती. आप इसे पूरे दिन में टुकड़ों में बांट सकते हैं जैसे दोनों वक्त के भोजन के बाद 20 मिनट के लिए टहल सकते हैं. जरूरत बस इतनी है कि यह नियमित दिनचर्या का हिस्सा बन जाए. अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रतिबद्धता अनिवार्य है.