इस देश में घरों के ऊपर गुजरती हैं गाड़ियां, अंदर दौड़ती हैं ट्रेन…

लाइव सिटीज डेस्क : हमारे देश में कई समस्याएं हैं. जिन पर काम होना चाहिए. लेकिन सरकार और राजनेता अपनी राजनीति करने में इतने बिजी हैं कि उन्हें बुनियादी बातों का जिक्र करने की भी फुर्सत नहीं है. बढ़ती आबादी देश की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है. आज भारत की आबादी 135 करोड़ से ज्यादा हो गई है. इतनी ज्यादा की लोगों के लिए जमीन कम पड़ने लगी. स्वास्थ सुविधाएं का भी बुरा हाल है. इतनी बड़ी आबादी को स्वास्थ सेवा देना सरकारों के लिए मुश्किल हो जा रही है. ऐसेे में देश के लिए जनसंख्या नियंत्रण बहुत जरूरी है. इससे कई बड़ी समस्याओं का हल निकल सकता है. इसके लिए योजना भी बनाई जानी चाहिए. इसकी सीख हम अपने पड़ोसी देश चीन से तो ले ही सकते हैं.

हमारे पड़ोसी देश चीन न सिर्फ हमसे ज्यादा विकसित है, बल्कि उसकी आबादी भी हमारे देश से कई गुनी ज्यादा है. चीन की लगभग 70 प्रतिशत आबादी शहरों में रहती है, इसलिए वहां के शहरों में सबसे ज्यादा भीड़ देखने को मिलेगी. चीन की जनसंख्या का यह हाल है कि वहां लोग ताबूत सेप घरों में रहते हैं. वहां के शहरों में जमीन मिलनी मुश्किल ही नहीं इंपॉसिबल है. पर वहां की सरकार ने जनसंख्या नियंत्रण के लिए कई उपाय कर रखे हैं, जो शायद आपको अजीब लगे. लेकिन कारगर है. वहां के लोगों की सभी जरूरतों का ख्याल चीनी सरकार की योजनाओं से हो जाता है. आइए नजर डालते हैं चीनी लोगों की जीवनशैली पर…



चोंगकिंग शहर तो घुमिए, मजा आएगा…

चीन में चोंगकिंग नाम का शहर है, जहां की जनसंख्या बहुत ही ज्यादा है. इतना अधिक की वहां घरों की छतों पर गाड़ियां दौड़ती हैं. आप सोच रहे होंगे कि कुछ ही घरों पर ऐसा होगा. लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है. चोंगकिंग शहर के घरों पर हाइवे बने हुए हैं. ऐसा इसलिए की शहर में हाइवे के लिए जमीन नहीं है.

इमारतों के अंदर चलती हैं ट्रेन

अगर आपका घर रेलवे स्टेशन के नजदीक है, तो हॉर्न और ट्रेन की अनाउंसमेंट से ही परेशान हो जाइएगा. रात में अगर कोई ट्रेन गुजरने लगे, तो नींद टूटती तय है. लेकिन आपको हम बताएं कि चीन में घरों के अंदर से ही ट्रेन गुजरती है. सुनने में जरूर अटपटा लग रहा होगा. लेकिन यह सच है. जमीन की समस्यां होने की वजह से चीन में इमारतों के बीच से ही ट्रेन दौड़ती है. सिर्फ चीन ही नहीं, बल्कि दुनिया के और भी विकासिल देश है, जो ऐसा कर चुके हैं.

कई विकासिल देशों ने भी अपनायी यह तकनीक

दरअसल जहां आबादी ज्यादा है, वहां खाली ज़मीन नहीं मिलती और अगर विकास की रफ़्तार को कायम रखना है, तो ऐसे कदम उठाने जरुरी हो जाते हैं. साउथ अमेरिका के कई ऐसे देश हैं जिन्होंने ऐसे कदम उठाए हैं. चीन की मदद से बिना लोगों को किसी तरह का डिस्टर्ब किये उन्हें वहीं सड़कें, रेलवे और बिजली की सुविधाएं पहुंचायी गयी है. आने वाले समय में भारत के भीड़ वाले शहरों में ऐसे नज़ारे देखने को मिल सकते हैं.