युवा दिलों की धड़कन, गोली की तरह चलने वाली ‘बुलेट’ की ये 15 दिलचस्प बातें आप नहीं जानते होंगे

लाइव सिटीज डेस्क : पूरी दुनिया में बाइक के दीवाने आपको मिल जाएंगे जो इसके लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हो जाएंगे. बाइक लवर्स की एक इच्छा होती है कि वह सभी तरह की बाइक को चलाए. लेकिन एक बाइक ऐसी थीं जिसे तो हर युवा चलाना चाहता था. साल 1980 के दशक में भारतीय मोटरसाइकि‍ल मार्केट में गि‍नी चुनी पावरफुल बाइक्‍स थी. आजकल भारत के टू-व्‍हीलर मार्केट में मोटरसाइकि‍ल की सेल्‍स की ग्रोथ काफी सुस्‍त पड़ गई हैं.



बहुत पहले एक ऐड आया करता था कि ‘जब बुलेट चले तो दुनिया रास्ता दे’, जी हां आपने ठीक समझा हम बुलेट की बात कर रहे हैं. बाइक चलाने वाले की एक ख्वाहिश होती है कि वह अपनी जिंदगी में एक बार बुलेट को जरूर चलाए. बुलेट भारतीय युवाओं के धड़कन की पहली पसंद हैं. रॉयल एनफील्ड की यह बाइक पिछले कई सालों से भारतीय सड़कों पर दौड़ रही है. रॉयल एनफील्ड भारत के मोटरसाइकल मार्केट में क्रूजर बाइक्स सेक्शन का बेताज बादशाह है.

किसी बाइक लवर से आप अगर ये पूछें कि कौन सी बाइक सबसे ज़्यादा कंफर्टेबल होती है, तो यकीनन उनका जवाब होगा बुलेट. आखिर रॉयल एन्फील्ड में आखिर ऐसा क्या है जो इसे रॉयल बाइक बनाता है? आपने भी रॉयल एन्फील्ड यानी बुलेट की तारीफ तो बहुत सुनी होगी, मगर ये नहीं जानते होंगे कि ये बाइक खास क्यों है.
तो चलिए हम आपको बताते हैं दुनिया की इस मशहूर बाइक से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें :

1. रॉयल एन्फील्ड दुनिया की सबसे पुरानी मोटरसाइकिल है. और खास बात यह है कि यह बाइक आज भी बन रही है और लोगों के बीच काफी पॉप्युलर है.

2. रॉयल एन्फील्ड पहली कंपनी थी जिसने भारत में दोपहिया वाहनों में खास डिस्क ब्रेक की सुविधा दी थी.

3. 1965 में भारत सरकार ने बुलेट को भारतीय सीमा की निगरानी यानी पेट्रोलिंग के लिए बेस्ट मोटरसाइकिल माना. सरकार ने 350सीसी मॉडल वाले 800 बुलेट का ऑर्डर दिया.

4. इंडियन आर्मी में उत्तर और उत्तर-पश्चिम व अन्य कैन्टन्मेंट एरिया में आज भी हज़ारों रॉयल एन्फील्ड मोटरसाइकिल इस्तेमाल हो रही हैं.

5. 2001 में यह कंपनी सालाना 25,000 मोटरसाइकिल बेचती थी, लेकिन अब ये एक महीने में 30,000 से ज़्यादा बाइक बेचती है.

6. 1970 में इस कंपनी ने भारत में 650 सीसी और 700 सीसी की बाइक बनानी शुरू की, लेकिन बिक्री नहीं होने की वजह से इसे बनाना बंद कर दिया गया.

7. 1990 में रॉयल एन्फील्ड कंपनी ने डीज़ल वाली मोटरसाइकिल ‘टॉरस’ बनानी शुरू की, मगर अफसोस कि यह बाइक सफल नहीं हो पाई और कंपनी ने 2002 में इसे बनाना बंद कर दिया.

8. रॉयल एन्फील्ड के असली लोगो में एक कैनन था और उस पर यह स्लोगन लिखा था ‘मेड लाइक ए गन, गोज़ लाइक ए बुलेट.’

9. 1984 में एन्फील्ड इंडिया ने भारत में यह मोटरसाइकिल बनाकर यूके को निर्यात करना शुरू कर दिया.

10. रॉयल एन्फील्ड कंपनी अपनी मोटरसाइकिल अमेरिका, जापान और जर्मनी समेत 42 देशों को निर्यात करती है.

11. 2015 में दुनियाभर में बिक्री के मामले में इसने हार्ले डेविडसन को भी पीछे छोड़ दिया था.

12. रॉयल एनफील्ड ने 2017 में क्लासिक 350 और 500 मोटरसाइकिलों के नए मॉडल पेश किए.

13. रॉयल एनफील्ड भारत में पहली ऐसी कंपनी थी जिसने मोटरसाइकिल में 4 इंजन स्ट्रोक का इस्तेमाल किया.

14. 2015 गणतंत्र दिवस परेड के दौरान रॉयल एनफील्ड मोटरसाइकिलों को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा सराहा गया.

15. 2015 में रॉयल एनफील्ड मोटर्स ने अपने उत्तरी अमेरिकी मुख्यालय और विस्कॉन्सिन के मिल्वौकी में एक डीलरशिप की घोषणा की.