रंग लगे नोट या कटे-फटे नोट बदलवाना चाहते हैं आप, तो यहां बदलें बेहिचक

लाइव सिटीज डेस्क : कभी-कभार 500 और 2000 रुपये के नोट या अन्य किसी भी नोट पर रंग लग जाता है, तो कुछ दुकानदार इसे लेने से इनकार कर देते हैं. दरअसल लोगों को आशंका होती है कि ये नोट चलेंगे नहीं. अगर आपके पास भी रंगा हुआ नोट है या फिर कोई नोट फट गया है, तो आप इन नोटों को आसानी से बैंक में जाकर बदलवा सकते हैं. कोई भी बैंक इन नोटों को बदलने से इनकार नहीं कर सकता है. हालांकि अगर आपने नोटों को लेकर कुछ बातों का ध्यान नहीं रखा तो आपका 500 और 2000 रुपये का नया नोट भी रद्दी हो सकता है.

हम नकली नोटों की बात नहीं कर रहे. आपके पास मौजूद ये नोट एकदम नए और असली होंगे. इन्हें जारी भी भारतीय रिजर्व बैंक ने ही किया होगा, लेकिन एक गलती इन्हें रद्दी बना देगी. भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले साल 3 जुलाई को एक सर्कुलर जारी किया था. यह सर्कुलर इस बारे में है कि बैंक कौन से नोटों को स्वीकार कर सकते हैं और कौन से नहीं.

सर्कुलर के मुताबिक अगर किसी भी नोट पर कोई राजनीतिक स्लोगन लिखा हो, तो वह नोट अस्वीकार्य होगा. उसे कोई भी बैंक मान्य नहीं करेगा. आरबीआई ने अपने सर्कुलर में साफ कहा है कि ऐसे नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे. इसका मतलब है कि ऐसे नोट देश का कोई भी बैंक मान्य नहीं करेगा. ये पूरी तरह से रद्दी बन जाएंगे. फिर चाहे उनकी वैल्यू कितनी ही ज्यादा क्यों न हो.

रंगे हुए नोट

पिछले साल मार्च में व्हाट्सऐप पर एक मैसेज वायरल हुआ था, जिसमें कहा जा रहा था कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक रंग लगे हुए नोट नहीं ले रहे हैं. इस पर तस्वीर साफ करते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा था कि कोई भी बैंक इन नोटों को लेने से इनकार नहीं कर सकता है. हालांकि इसके साथ ही उसने लोगों को हिदायत दी थी कि वे नोटों को गंदा न करें.

जानबूझकर फाड़े गए नोट

सर्कुलर में कहा गया है कि बैंक ऐसे किसी भी नोट को स्वीकार न करें, जो जानबूझकर फाड़ा गया हो. आरबीआई कहता है कि वैसे तो जानबूझकर फाड़े गए नोटों की पहचान करना मुश्किल है, लेकिन अगर फटे नोटों को ध्यान से देखा जाए, तो पता चल सकता है.

ऐसे नोट बदल सकते हैं

अगर आपके पास मौजूद नोट मटमैला हो गया है या फिर फट गया है, लेकिन उस पर सभी जरूरी जानकारी नजर आ रही है, तो बैंक ऐसे नोट बदलने से इनकार नहीं कर सकते.

सर्कुलर के मुताबिक बैंकों को ऐसे भी नोट बदलने होंगे, जो दो हिस्सो में फट गए हैं, लेकिन नोटों पर जरूरी जानकारी मौजूद है. बैंकों को उन नोटों को भी स्वीकार करना होगा, जो चिपकाए गए हों.

About Ritesh Kumar 2070 Articles
Only I can change my life. No one can do it for me.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*