रातभर गहरे कुएं में तड़प रहा था गाय का बछड़ा, इस पुलिस वाले ने गहरे कुएं में उतरकर बचाई जान

लाइव सिटीज डेस्क : पृथ्वी जितनी इंसानों की है उतनी ही जानवरों की भी है. लेकिन आज के समय में लोग इंसानियत को धीरे-धीरे भूलते जा रहे हैं और जानवरों के साथ अत्याचार करने में जरा भी नहीं हिचकते हैं. गाय को हिन्दू धर्म में माता का दर्जा दिया गया है. कई जगहों पर गाय की पूजा भी की जाती है. लेकिन आजकल उसी गाय की दुर्गति हो गई है. गाय सड़कों पर प्लास्टिक खाने के लिए मजबूर है. ऐसे में किसी जानवर की जान बचानें के लिए कोई अपनी जान दाव पर लगाए तो वाकई काबिले तारीफ है.

कुछ लोगों के अन्दर इंसानियत जिन्दा है



आप तो जानते ही हैं कि अक्सर यूपी पुलिस अपने कामों की वजह से चर्चा का विषय बनी रहती है. कभी शराब पीकर ड्यूटी करना तो कभी लोगों के साथ बद्तमीजी करना, यूपी पुलिस के लिए आम बात है. कई बार पुलिस वालों को घुस लेते भी पकड़ा गया है. लेकिन इस बार यूपी पुलिस ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया है, जिसे जानकर लगता है कि अभी भी कुछ लोगों के अन्दर इंसानियत जिन्दा है. यूपी पुलिस के एक सिपाही ने अपनी जान पर खेलकर गहरे कुएं में गिरे हुए गाय के एक बछड़े की जान बचाई है.

सिपाही ने खुद गहरे कुएं में उतरकर बछड़े को सुरक्षित बाहर निकाला

सिपाही ने खुद गहरे कुएं में उतरकर बछड़े को सुरक्षित बाहर निकाला. आपको बता दें यह घटना उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के साहबगंज इलाके की है. पुलिस को 100 नंबर पर लहरेपुर गांव के प्रधान से यह सूचना मिली की गांव के कुएं में एक बछड़ा रात से ही गिरा हुआ है. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई. रस्सी का इंतजाम करने के बाद किसी के कुएं में ना उतरने पर एक सिपाही खुद ही कुएं में निचे उतर गया और बछड़े को बाहर निकाल लाया.

बछड़े की जिंदगी बचाकर हमारे सामने इंसानियत की एक मिसाल

जब इसके बारे में कॉन्स्टेबल राम निवास से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘जब हमें सुबह 6;30 पर कॉल आई कि एक कुएं में रातभर से एक बछड़ा तड़प रहा है, उस समय हम अपनी पीआरवी में थे. हम मौके पर पहुँचे तो कोई भी गांव वाला कुएं में उतरने को तैयार नहीं था. तब मैंने खुद ही बछड़े को बाहर निकालने का फैसला लिया. मैं निचे गया और बछड़े को बाहर निकाल लाया. राम निवास ने गाय के बछड़े की जिंदगी बचाकर हमारे सामने इंसानियत की एक मिसाल पेश की है.