ट्रैक पर किसी इंसान को सामने देखने के बाद भी ट्रेन क्यों नही रुकती है, जानें इसकी बड़ी वजह

लाइव सिटीज डेस्क : जब हम रेलवे क्रासिंग पर होते हैं तो सामने दो बैरियर लगे होते हैं और जब ट्रेन आती है तो उस समय ट्रेन के फाटक बंद हो जाते हैं जिससे कोई भी उस समय रेलवे लाइन पर न जा पाए. लेकिन कुछ समझदार लोग उस समय उस फाटक को क्रॉस करके रेलवे लाइन को पार करते हैं जिससे कभी कभार दुर्घटना भी हो जाती है.

लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है की जब रेल चल रही हो और सामने से कोई जा रहा हो तब भी ट्रेन उसको देखने के बाद भी क्यों नही रुकती. इस पोस्ट में हम बताएंगे की ट्रैक पर अगर किसी जानवर या फिर इंसान के आ जाने के बाद भी ट्रेन क्यों नही रुकती है.

ब्रेक अप्लाई करने की मिनिमम डिस्टेंस 1 किलोमीटर होनी चाहिए

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अगर ट्रेन के सामने कोई चीज आती है तो ट्रेन को रोकने के लिए लोको पायलट को इमरजेंसी ब्रेक अप्लाई करनी पड़ेगी और कोई ट्रेन में 20 से 25 कोच वाली ट्रेन है और वो 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से जा रही है तो इमरजेंसी ब्रेक अप्लाई करने की कम से कम दूरी 850 मीटर होनी चाहिए.

और अगर कोई सामान ले जाने वाली गाडी पूरी तरह से लोड हो और वो 80 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से जा रही है तो उसमे इमरजेंसी ब्रेक अप्लाई करने की मिनिमम डिस्टेंस 1 किलोमीटर होनी चाहिए.

सामने की चीजों को देख पाना बहुत मुश्किल 

इतनी अधिक दूरी से सामने की चीजों को देख पाना बहुत मुश्किल है और अगर ट्रैन की रेलवे लाइन 2 डिग्री के कर्व से मुड़ी हो तब 500 मीटर की दूरी से देख पाना बहुत मुश्किल है.

इसलिए लोको पायलट सामने की चीजों को जब देखता है तो वो बहुत ही कम दूरी पर होती है और इसी वजह से लोको पायलट ट्रैक पर किसी चीज को देखने के बाद भी ट्रेन को नही रोकते हैं. उनके लिए लोकोमोटिव में लगा हॉर्न ही एक मात्र उम्मीद होती है जिसे बजाकर वो लोगो को इन्फॉर्म कर देते हैं.

उम्मीद है आपको इस बात का पता चल गया होगा कि चलती ट्रेन के सामने आने पर भी ट्रेन क्यो नहीं रुकती. अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो पोस्ट को लाइक करना और कमेंट करना बिल्कुल भी मत भूलें, धन्यावाद.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*