दुनिया की Top 5 सबसे खूबसूरत महिला किक्रेटर्स, विराट और जडेजा को कर चुकीं हैं प्रपोज

लाइव सिटीज डेस्क : हाल ही में इंग्लैंड में महिला क्रिकेट विश्व कप का आयोजन हुआ था. इंग्लैंड में हुए इस महिला क्रिकेट विश्व कप के दौरान क्रिकेट की तो चर्चा रही ही साथ ही महिला क्रिकेटर्स की खूबसूरती भी खूब सुर्खियों में रहीं. एक ऐसे समय में जब क्रिकेट की दुनिया में पुरुषों का बोलबाला हो वहां इंग्लैंड में हुए इस महिला क्रिकेट विश्व कप के दौरान महिलाओं ने अपनी प्रतिभा से सबको चौंका के रख दिया.

विश्व कप के दौरान महिलाओं ने अपनी क्षमता दिखाई और ये साबित कर दिया कि वो किसी भी मामले में पुरुषों से कम नही हैं. लेकिन, आज हम इन महिला क्रिकेटर्स की प्रतिभा और क्षमता की बात नहीं बल्कि उनकी खूबसूरती की बात कर रहे हैं. आज हम आपको कुछ ऐसी ही खूबसूरत महिला क्रिकेटरों से मिलवाने जा रहे हैं जो खूबसूरती के मामले में किसी से कम नहीं हैं.



लॉरा मार्स

लॉरा एलेक्सेंड्रा मार्स इंग्लैंडकी खिलाड़ी हैं. लॉरा 11 साल की उम्र से क्रिकेट खेलती आ रही हैं. लॉरा ऑफ स्पिनर हैं और वो इस काम में इतनी माहिर हैं कि अच्छी अच्छी बल्लेबाज चकमा खा जाती हैं. आपको बता दे की लॉरा ने साल 2006 में भारत के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था.

ऐलिसे पेरी

ऐलिसे एलेक्सेंड्रा पेरी ऑस्ट्रेलिया कि ओर से खेलती हैं. जितनी चर्चा उनके खेल कि होती हैं उतनी ही चर्चा उनकी खूबसूरती कि भी होती है. आपको बता दें कि पेरी 16 साल की उम्र से किक्रेट के साथ साथ फुटबाल भी खेल रही हैं. पेरी ऑस्ट्रेलिया कि ओर से फुटबॉल और क्रिकेट दोनों में इंटरनेशनल स्तर के मैच खेलने वाली पहली प्लेयर हैं.

मिताली राज

मिताली राज को कौन नहीं जानता. वो काफी समय से भारतीय महिला टीम के लिए खेल रही हैं और उसकी कप्तान हैं. आपको बता दें कि मिताली महिला अंतराष्ट्रीय किक्रेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली पहली क्रिकेटर हैं. उनकी ही कप्तानी में भारत इस साल फाइनल में पहुंचा था.

सारा जेन टेलर

सारा की खूबसूरती की चर्चा उनके खेल से ज्यादा होती है. सारा इंग्लैंड के लिये खेलती हैं. हाल ही में इंग्लैंड में हुए विश्व कप के दौरान सारा की खूबसूरती ने काफी चर्चा हुई थी. साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू करने वाली सारा ने साल 2009 में 120 रन कि एक शानदार पारी खेली थी.

हॉली फर्लिग

हॉली फर्लिग ऑस्ट्रेलिया के लिये खेलती हैं. हॉली ने साल 2013 में ऑस्टेलिया कि महिला टीम की ओर से अपना पहला डेब्यू मैच खेला था. हॉली एक दायें हाथ की मध्यम तेज गति की गेंदबाजी हैं. आपको बता दें कि साल 2013 में महिला क्रिकेट विश्वकप के दौरान हॉली ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पूरे टूर्नामेंट में 10.55 के औसत से 9 विकेट लिये थे और टीम के लिए काफी अच्छा प्रदर्शऩ किया था.