क्या है गुरुवार को पीले कपड़े पहनने के पीछे का कारण, क्या है इसका महत्व?

लाइव सिटीज डेस्क : आपने देखा होगा कि गुरुवार को कई लोग पीले कपड़े पहनते हैं. खासकर महिलाएं और लड़कियां इस दिन जरूर से पीले वस्त्र पहनती हैं. भारतीय संस्कृति में पीले कपड़े पहनने का रिवाज काफी पुराना है. कई घरों में तो पीले रंग का भोजन भी किया जाता है. क्या है इस पीले रंग के पीछे का कारण?

गुरुवार और पीले कपड़े

गुरुवार के दिन पीले रंग के कपड़े पहनने की मान्यता पुरातन काल से चली आ रही है जो आज भी औद्योगिकीकरण के दौर में जारी है. इसका मतलब है कि लोग पुरानी मान्यता को अब भी छोड़ नहीं पाए हैं. पीला रंग सादगी और निर्मलता का प्रतीक माना जाता है जिसके कारण हिंदू धर्म में इस रंग के कपड़े को पहनने की विशेष तौर पर रीत है.

भगवान विष्णु का है पसंदीदा रंग

पीले रंग बहुत ही शुभ माना जाता है और यह भगवान विष्णु का पसंदीदा रंग होता है. वहीं साईं बाबा को भी यह रंग काफी पसंद था. इसलिए तो गुरुवार को साईं बाबा की पूजा करने वाले लोग पीले रंग के वस्त्र पहनते हैं और पीले ही रंग का भोजन करते हैँ.

बॉलीवुड में भी है यह मान्यता

बॉलीवुड सेलीब्रिटी भी इस दिन पीले कपड़े पहनने की मान्यता पर विश्वास करते हैं. तभी तो वे भी गुरुवार के दिन पीले कपड़े पहने हुए दिख जाते हैं. कई बार दीपिका पादुकोण से लेकर ऐश्वर्या राय तक पीली रंग की साड़ी में दिख चुकी हैं. हो सकता है कि ये लोग पीले रंग के कपड़े स्टाइल के लिए पहनते हों. लेकिन आप ये नहीं भूल सकते कि झूठी मान्यताओं और अंधविश्वास का जोड़ बॉलीवुड में ही सबसे ज्यादा देखा जाता है. तभी तो ऐश्वर्या राय ने अभिषेक से शादी करने से पहले पेड़ से शादी की थी. खैर उस बात पर बाद में जाते हैं और पीले रंग के कपड़े पहनने पर बात करते हैं.

विष्‍णु की कृपा के लिए

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार पीले रंग के कपड़े पहनने से विष्णु भगवान की कृपा मिलती है. हिंदू शास्त्र में बृहस्पति को शुभ ग्रह माना जाता है. इस ग्रह का आकार सभी ग्रहों से बड़ा है तो इसलिए इसे गुरु ग्रह भी कहा जाता है. बृहस्पति को भगवान विष्णु का ही रुप माना जाता है और भगवान विष्णु का पसंदीदा रंग पीला था जिसके कारण गुरुवार को भगवान विष्‍णु की पूजा के लिए पीले रंग के वस्त्र पहनने का रिवाज रहा है. विष्णु भगवान को पीला रंग पसंद होने की वजह से इस दिन पीले रंग के कपड़े पहने जाते हैं.

क्यों है पीले रंग की मान्यता?

फेमस रंग विशेषज्ञ भी पीले रंग के कपड़े पहनने को दिमाग की शांति से जोड़ कर देखते हैं. रंग विशेषज्ञों का मानना रहा है कि जैसा हम खाना खाते हैं वैसा ही हमारा शरीर होता है. इसी तरह से जैसे हम कपड़े पहनते हैं वैसी ही हमारी पर्सनैलिटी होती है. पीले रंग को कर्मठता तत्परता और उत्तरदायित्व निभाने वाला और इमोशनल रंग माना जाता है. इसलिए पीले रंग के कपड़े पहनने की मान्यता हिंदू धर्म में रही है. जिंदगी से परेशानियों को दूर करने के लिए भी पीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए.

फेंगशुई में भी पीला रंग है महत्वपूर्ण

हिंदु धर्म में पीले रंग को जिस तरह से शुभ माना जाता है वैसे ही फेंगशुई में भी पीले रंग को आत्मिक रंग यानी कि आत्मा या अध्यात्म से जोड़ने वाला रंग बताया जाता है. फेंगशुई का सिद्धांत एनर्जी पर आधारति होता है और पूरी दुनिया को एनर्जी सूर्य देवता से मिलती है जो पीले रंग का ही होता है. इसलिए पीले रंग को सूर्य के प्रकाश का यानी ऊष्मा शक्ति का प्रतीक माना जाता है.

जिंदगी में तारतम्यता, संतुलन और पूर्णता और एकाग्रता प्रदान करने के लिए पीले रंग के कपड़े पहनने चाहिए. इसलिए इस रंग के कपड़ों को पहनने सेजिंदगी में उमंग और खास बदलाव आते हैं. तो आज से आप भी पीले कपड़े पहनना शुरू कर दीजिए.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*