आयुक्त ने की कल्याण विभाग की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक

छपरा: आयुक्त नर्मदेश्वर लाल ने अपने कार्यालय कक्ष में कल्याण विभाग की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की. उन्होंने वित्तीय वर्ष 2016-17 में प्राप्त आवंटन और निकासी की राशि के विरुद्ध कम व्यय पर चिंता व्यक्त की तथा पदाधिकारियों को पूर्ण तत्परता एवं मुश्तैदी से सरकारी योजनाओं के लक्ष्य को शतप्रतिशत प्राप्त करने का निर्देश दिया. आयुक्त ने मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना (इंटर द्वितीय श्रेणी) की समीक्षा के क्रम में पाया कि सारण प्रमंडल में द्वितीय वर्ष 2016-17 में 506.20 लाख रूपये आवंटन प्राप्त हुआ था. 506.20 लाख रूपये की निकासी हुयी. 3195 लाभुकों के बीच मात्र 249.06 लाख रूपये व्यय हुए. शेष राशि 257.14 लाख रूपये रह गये. उन्होंने कहा कि सारण जिला में 182.10 लाख रूपये आवंटन प्राप्त हुआ. 182.10 लाख रूपये की निकासी हुयी. 562 लाभान्वितों के बीच 56.20 लाख रूपये ही वितरित हुए. 125.90 लाख रूपये शेष रह गए. उपलब्धि मात्र 30.86 प्रतिशत हुयी, यह काफी दयनीय स्थिति है.

उन्होंने जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी से पूछा कि इतनी कम राशि का व्यय क्यों हुआ? सिवान जिले में 185.30 लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ. 185.30 लाख रूपये की निकासी हुयी. 1205 लाभान्वितों के बीच मात्र 120.50 लाख रूपये वितरित हुये. 64.80 लाख रूपये अवशेष रह गये. लक्ष्य के विरुद्ध मात्र 65.02 प्रतिशत प्राप्त हुयी. वहीं गोपालगंज जिले में 138.80 लाख रूपये आवंटन प्राप्त हुए. 138.80 लाख रूपये की निकासी हुयी. 1388 लाभान्वितों के बीच 72.36 लाख रूपये वितरित किये गयें. शेष राशि 66.44 प्रतिशत रह गये. लक्ष्य के विरुद्ध उपलब्धि मात्र 12.13 प्रतिशत हुई. उन्होंने सारण, सीवान एवं गोपालगंज जिले के अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी से शतप्रतिशत व्यय नहीं होने का कारण पूछा.उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं का शतप्रतिशत क्रियान्वयन होना चाहिए. लापरवाही ठीक नहीं है.

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना इंटर प्रथम श्रेणी की समीक्षा के क्रम में आयुक्त ने पाया कि सारण प्रमंडल में वितीय वर्ष 2015-16 में 220.20 लाख रूपये प्राप्त हुए. 220.20 लाख रूपये की निकासी हुई. 1805 लाभार्थियों में 139.80 लाख रूपये का वितरण किया गया. 80.40 लाख रूपये अवशेष रह गये. प्रमंडल की उपलब्धि मात्र 63.48 प्रतिशत ही रहा. सारण जिला में 13.95 लाख रूपये आवंटन प्राप्त हुये. 73.95 लाख रूपये की निकासी हुयी. 261 लाभान्वितों के बीच मात्र 39.15 लाख रूपये व्यय हुये. 34.80 लाख रूपये अवशेष रह गये. लक्ष्य के विरुद्ध मात्र 52.94 प्रतिशत व्यय हुआ. सीवान जिले में 102.15 लाख रूपये का आवंटन प्राप्त हुआ. 102.15 लाख रूपये की निकासी हुयी. 530 लाभान्वितों के बीच 79.50 लाख रूपये वितरित हुये. अवशेष राशि 22.65 लाख रूपये रह गये. लक्ष्य के विरुद्ध 77.82 प्रतिशत व्यय हुआ. गोपालगंज जिले में 44.10 लाख रूपये आवंटन के आलोक में 44.10 लाख निकासी हुयी. 294 लाभान्वितों के बीच 21.15 लाख रूपये वितरित हुआ. अवशेष राशि 22.95 लाख रूपये रह गए. लक्ष्य के विरुद्ध व्यय 47.95 प्रतिशत रहा, जो बहुत कम हैं. आयुक्त ने मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना मैट्रिक प्रथम की समीक्षा के क्रम में पाया कि वितीय वर्ष 16-17 में सारण जिला में 67.30 लाख आवंटन के विरुद्ध 67.30 लाख रूपये की निकासी की गयी. 503 लाभान्वितों के बीच 50.30 लाख रूपये वितरित हुए. 17 लाख रूपये अवशेष रह गए. लक्ष्य के विरुद्ध 74.73 प्रतिशत व्यय हुआ. सिवान जिले में 73.20 लाख रूपये आवंटन के विरुद्ध 73.20 लाख रूपये की निकासी हुयी. 518 लाभान्वितों के बीच 51.80 लाख रूपये व्यय हुए. 21.40 लाख रूपये अवशेष रह गये.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*