सारण के नियोजन मेले में कई युवाओं को मिला रोजगार

छपरा (सी.पी. राज) : सारण जिले में दो दिवसीय नियोजन मेले ने कई युवाओं के जीवन को एक नई दिशा दी है. नियोजन मेले में रोजगार पाकर युवाओ के चेहरे खिल गए हैं. उक्त बातें केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहीं. वे सारण जिले में आयोजित दो दिवसीय नियोजन मेले में उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे. केंद्रीय मंत्री का स्वागत छपरा हवाई अड्डे पर छपरा विधायक डॉ. सीएन गुप्ता, सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी, महाराजगंज सासंद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल, अमनौर विधायक शत्रुघ्न तिवारी आदि ने किया.

अपने संबोधन में डॉ सीएन गुप्ता ने कहा कि जिले के कई युवाओ को रोजगार नियोजन मेले में मिला है. यह मेला छपरा के युवाओं के लिए मील का पत्थर साबित होगा. आज के समय में केन्द्र और राज्य सरकार के द्वारा कौशल विकास की जो साझा पहल है, वह वास्तव में हमारे प्रधानमंत्री की युवाओं के प्रति दूरदर्शी सोच को साकार करेगा.

विधायक ने सासंद रूडी के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि पूर्व मंत्री और सांसद रूडी के प्रयास से लगा यह मेला युवाओं के लिए रामबाण होगा. उन्होंने केन्द्रीय मंत्री को ऐसा आयोजन हमेशा कराते रहने की अपील भी की. उन्होंने छपरा आने पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान तथा उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का हार्दिक अभिनंदन किया व उनके प्रति आभार जताया.

मेडिकल क्रान्ति का हब बनेगा बिहार

कौशल विकास मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा आयोजित रोजगार मेला में पटना के जाने माने डॉ. प्रभात रंजन डायग्नोसिटक एव रिसर्च सेंटर के स्टाल पर युवाओं की भारी भीड़ जुटी. डॉ. प्रभात रंजन वरीय पैथोलॉजिस्ट ने बताया कि छपरा के नौजवानों को मेडिकल लैब टेक्नीशियन, ब्लड कलेक्टर (फ्लेबोटोमिस्ट) और हिस्टो टेक्नीशियन व अन्य जाॅब के लिए चयनित किया गया.

इसके अलावा इन कोर्स की शुरुआत इस संस्था में होने से बिहार के मेडिकल क्षेत्र में एक सकारात्मक दूरगामी प्रभाव पड़ा है. यहाँ उच्च कोटि की तकनीकी दक्षता इन विषयों में प्रदान की जाती है. यहां एक साल में (हिस्टो टेक्नीशियन और मेडिकल लैब टेक्नीशियन) और चार महीने में ब्लड कलेक्टर (फ्लेबोटोमिस्ट) के कोर्स द्वारा बिहार के युवाओं को देश-विदेश में रोजगार के अवसर प्राप्त हो सकते हैं.

वर्तमान में बिहार के मेडिकल क्षेत्र में प्रशिक्षित कर्मियों की भारी कमी है. इसकी भरपाई इन कोर्सों के संचालन द्वारा होगी. इस अवसर पर डॉ. प्रभात रंजन डायग्नोसिटक एवं रिसर्च सेंटर संस्था की प्रिंसिपल डॉ. रूपम ने बताया कि बिहार में हिस्टो टेक्नीशियन और ब्लड कलेक्टर (फ्लेबोटोमिस्ट) का कोर्स नहीं चल रहा था. इससे इन क्षेत्रों में युवाओं को नया अवसर मिलेगा और मेडिकल लैब टेक्नीशियन का कोर्स जो पहले दो साल में पूरा होता था.

अब इस स्किल सेंटर में कौशल विकास मंत्रालय द्वारा अब एक साल में पूरा कराया जाएगा. इन कोर्सो में छपरा के वैसे छात्र जो 10+2 साइंस से किए हो एडमिशन ले सकते हैं. दिव्यांग के लिए विशेष छूट की भी व्यवस्था है. इस पूरे कोर्स का निरीक्षण और परीक्षा हेल्थ सेक्टर स्किल कॉउंसिल भारत सरकार के कौशल विकास मंत्रालय द्वारा किया जाएगा.

यह बिहार में अपने तरह का पहला प्रशिक्षण केंद्र है. जहां प्रशिक्षण के बाद पहला मेडिकल जाॅब मेला लगाया जाएगा और रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे. डॉ प्रभात रंजन के सटाॅल का निरीक्षण स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रूढी और सीवान के सांसद ओमप्रकाश यादव ने किया. छपरा के डीएम हरिहर प्रसाद एवं एसपी हरिकिशोर राय ने युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपा. इस अवसर पर संस्था की निदेशिका डॉ. रूपम रंजन, भारत सरकार के हेल्थ सेक्टर के मैनेजर अंशु वर्मा, नितिन चौधरी और अन्य गणमान्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*