घर की सफाई के दौरान हादसा, छज्जा गिरने से महिला की मौत

छपरा : शनिवार को दोपहर के समय घर का छज्जा गिरने की दर्दनाक घटना हुई थी. इस वाकये में टरवां मंगरपाल गांव के ही 35 वर्षीय राजमिस्त्री जयमंगल राम उर्फ भुअर राम की मौत छज्जे से दबकर हो गई थी. जबकि उसी जगह खड़ी सुरेंद्र राय की 50 वर्षीय पत्नी तारा देवी को भी गंभीर चोटें आईं थीं. परिजन आनन-फानन में उसे पीएमसीएच ले गये, जहां उसकी मौत हो गई.

मृत महिला की तीन पुत्रियां हैं, जिनमें दो की शादी हो चुकी है. जबकि एक छोटी पुत्री मेनिका कुमारी की अभी शादी नही हुई हैं. अपने आंखों के सामने घटी इस घटना से आहत मेनिका बार बार रोते-रोते बेहोश हो जा रही हैं. वहीं बेबस पिता का भी रो-रो कर बुरा हाल है.

पड़ोसी के श्राद्धकर्म में मायके आई थी

तारा देवी पिछले एक माह से अपने मायके गई थी. इसी बीच अपने ससुराल के घर के पड़ोस में बुजुर्ग महिला की मौत हो गई थी. उनका श्राद्ध कार्यक्रम शनिवार को होना था. इसी वजह से महिला शनिवार की सुबह मिस्त्री को बुलवा कर सेंट्रिंग का तख्ता निकलवा रही थी.
उसी जगह अपने घर की साफ-सफाई कर रही थी. तभी अचानक मौत ने दस्तक दी और छज्जा राजमिस्त्री तथा महिला के शरीर पर जा गिरा, जिसमें राजमिस्त्री की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि घायल महिला की मौत इलाज के दौरान पीएमसीएच में हो गई.

ग्रामीण बोले, हादसा तो होना ही था

छज्जा गिरने की घटना के प्रत्यक्षदर्शियों का मानना है कि आज नहीं तो कल ये हादसा तो होना ही था. क्योंकि मिस्त्री द्वारा की गयी छज्जा की ढलाई बिना पिलर और दीवार के पूर्ण रूप से सपोर्ट के बगैर ही की गयी थी. करीब 20 फुट लंबे और पांच इंच मोटे छज्जे का अधिकतर हिस्सा सेट्रिंग बांस व तख्थे के सपोर्ट पर टिका हुआ था. राजमिस्त्री जैसे ही सेंट्रिंग हटाने लगा, तभी अचानक छज्जा गिर पड़ा. संयोग अच्छा था कि घर के आस-पास के बच्चे उस जगह नहीं थे, वरना मौतों की संख्या और बढ़ सकती थी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*