पीएनबी लूटकांड में शामिल एक और लुटेरा गिरफ्तार, लोडेड तमंचा व लूट के 90 हजार रुपये बरामद

लाइव सिटीज, पटना/अजीत : बेउर के हरनीचक मोड़ स्थित पीएनबी में दिनदहाड़े हुई 52.38 लाख रुपये की डकैती मामले में फरार रहे वैशाली के एक और लुटेरे को बेउर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. पकड़ा गया आरोपी अजीत कुमार वैशाली के फोरम महनार का रहने वाला है. तलाशी के दौरान उसके पास से एक लोडेड तमंचा मिला. वहीं उसकी निशानदेही पर पुलिस ने पीएनबी से लूटे गये 90 हजार रुपये भी बरामद किये.

बता दें कि इस मामले में अभी भी एक लुटेरा गुंजा फरार है. जबकि ससरगना अमन कुमार उर्फ सत्यम शुक्ला समेत कुल सात लुटेरे अमित, हरिनारायण, सोनेलाल, गणेश कुमार उर्फ ननकी, प्रफुल्ल कुमार व अमन कुमार जेल जा चुके हैं.




पटना में छिपकर रह रहा था अजीत

बेउर थाना प्रभारी फूलदेव चौधरी ने बताया कि 22 जून को पीएनबी में हुई डकैती के बाद से पकड़ा गया लुटेरा अजीत पटना के ही विभिन्न इलाकों में छिपकर रह रहा था. पहले वह रामकृष्णानगर में ही किराये के कमरे में रहता था, लेकिन साथी लुटेरों के पकड़े जाने के बाद वह अपने ठिकाने बदलकर पाटलिपुत्र, दीघा व राजीव नगर में रहने लगा. जांच के दौरान उसके बारे में अहम सुराग मिला. बीते शुक्रवार की रात को वह मानिकचंद तालाब के पास अपने कुछ साथियों के बुलाने पर उनसे मिलने जा रहा था. तभी गुप्त सूचना पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया. 

सात लाख में डेढ़ लाख ही मिले थे

पूछताछ में आरोपी ने पीएनबी लूटकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की. बताया कि गिरोह के सरगना सत्यम ने ही उसे हायर किया था. पहले भी वह बैंक लूटकांड में शामिल रह चुका है. पीएनबी लूटकांड में उसे 7 लाख रुपये हिस्सा मिलना था, लेकिन सरगना ने डेढ़ लाख ही दिये थे. शेष पैसे मिलने से पहले सरगना साथियों के साथ पकड़ लिया गया. इसलिए उसे शेष पैसे नहीं मिले थे.