मुंगेर में विसर्जन के दौरान फायरिंग का मामला, एसपी ऑफिस पर पथराव, कई गाड़ियों को फूंका

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के मुंगेर जिले में प्रतिमा विसर्जन के दौरान फायरिंग का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. मिल रही जानकारी के अनुसार पुलिस फायरिंग में युवक की मौत के बाद लोगों का गुस्सा आक्रामक होता जा रहा है. घटना से आक्रोशित लोगों ने एसपी लिपि सिंह के ऑफिस में पथराव कर दिया है.

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि आक्रोशित लोगों ने एसपी ऑफिस के बाहर हंगामा शुरू कर दिया है. एसपी लिपि सिंह के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. लोगों की नाराजगी इतना ज्यादा है कि पूरा हुजूम ही उग्र हो चला है.



अब भीड़ कोतवाली थाना की ओर बढ़ रही है. दोनों थानों की कई गाड़ियों में भीड़ ने आग लगा दी है. लगातार मुंगेर एसपी लिपि सिंह के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. वह लगातार कर रहे हैं कि मुंगेर में लिपि सिंह की तानाशाही नहीं चलेगी. नाराज लोगों की मांग है कि एसपी लिपि सिंह को जल्द ही हटाया जाये.

क्या है पूरा मामला:

मुंगेर में पुलिस जबरन मूर्ति विसर्जन करा रही थी. इसका जब लोगों ने विरोध किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज किया. जब लोग हंगामा करने लगे तो पुलिस ने फायरिंग कर दी. एक युवक की सिर में गोली लगी और उसकी मौत हो गई. जबकि पांच लोग गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए. यह घटना मुंगेर के दीन दयाल चौक के पास हुई. मुंगेर के लोगों ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाया है. लोगों का कहना है कि पहले से परंपरा रही है कि पहले बड़ी देवी का मूर्ति विसर्जन होता है. उसके बाद छोटी मूर्ति का विसर्जन किया जाता है. लेकिन पुलिस जबरन विसर्जन करा रही थी. पुलिस ने इस दौरान बेरहमी से लोगों की पिटाई की है.