शाहपुर कांड में पूर्व मुखिया गिरफ्तार, गोली चलाने वालों में मनेर का अपराधी शम्भू गोप भी था शामिल

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : शाहपुर के गंगहारा में हुए खूनी खेल के मामले में पटना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पूर्व मुखिया शिवजी शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया है. वारदात के बाद शाहपुर थाना की पुलिस ने पूछताछ के लिए पूर्व मुखिया को हिरासत में लिया था. लेकिन जांच और उसमें मिले सबूतों के आधार पर मंगलवार को पुलिस ने पूर्व मुखिया को गिरफ्तार कर लिया. इसके साथ ही विपक्षी पार्टी के गुड्डू को भी पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया है. पटना के सिटी एसपी वेस्ट अशोक मिश्रा ने इसकी पुष्टि की है. सिटी एसपी वेस्ट के अनुसार हत्या और गोली चलाने के मामले में दोनों पक्षों के एक-एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

गौरतलब है कि सोमवार के दोपहर दियारा इलाके में स्थित गंगहारा गांव में दो पक्षों के बीच गोलीबारी हुई थी. इस घटना में पूर्व मुखिया के भाई जितेंद्र शर्मा (47) और दूसरे पक्ष गुड़िया देवी के रिश्तेदार जितेंद्र शर्मा (42) की गोली लगने से मौत हो गई थी. इस घटना दोनों पक्षों में कुछ लोग घायल भी हुए थे. लेकिन सिटी एसपी वेस्ट की मानें तो घायल अब तक लापता हैं. पुलिस के सामने नहीं आये हैं. हालांकि कांड में शामिल फरार लोगों की तलाश में छापेमारी चल रही है. लेकिन गंगा नदी के बढ़े हुए जल स्तर की वजह छापेमारी में परेशानी भी हो रही है.



पूर्व मुखिया ने बुलाये थे अपराधी

पुलिस की जांच में यह बात सामने आई कि पिछले तीन साल से दोनों पक्षों के बीच विवाद चला आ रहा है. पीसीसी रोड बनाने को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद है और इसी वजह से दोनों तरफ से गोली चली. पुलिस की जांच में बड़ी सामने आई है कि पूर्व मुखिया ने मौके पर मनेर के अपराधी शम्भू गोप और उसके लोगों को बुला रखा था. इनके तरफ से भी दूसरे पक्ष के ऊपर गोली चलाई गई थी.

दोनों तरफ से दर्ज हुई एफआईआर

इस मामले में दोनों तरफ से शाहपुर थाना में एफआईआर दर्ज करा दी गई है. गुड्डू ने मृतक जितेंद्र शर्मा, भाई व पूर्व मुखिया शिवजी शर्मा, अवधेश शर्मा, ओम प्रकाश शर्मा सहित 8 नामजद व 5 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है. जबकि शिवजी शर्मा ने विपक्षी पार्टी के मृतक जितेंद्र शर्मा, इसके भाई गुड्डू और दो बेटों पर एफआईआर दर्ज करवाया है.