कैमूर : पुलिस ने सीएसपी संचालक से लूट का किया खुलासा, 7 लोग गिरफ्तार

लाइव सिटीज, कैमूर/भभुआ (ब्रजेश दुबे) : जिले के मोहनिया अनुमंडल मुख्यालय स्थित पंजाब नेशनल बैंक के सीएसपी संचालक से 16 मई को रुपए लूट कांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया. जिस मकान में सीएसपी बैंक था उसी मकान मालिक के लड़के ने खुद लाइनर का काम कर साढ़े तीन लाख रुपए लुटने का प्लानिंग बनाया था. पुलिस ने मकान मालिक के लड़के सहित 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल, अपने आप को छोटा लुटेरा नहीं बल्कि बड़े लुटेरों के नाम से लोग जाने अपने आप को मशहूर करता था. लुटेरों से जिले के एसपी दिलनवाज अहमद ने खुद लूट की घटना को वारदात देने के बारे में पूछताछ किए तो लुटेरों ने बिना डर व भय के एसपी से कहा कि मैं कोई छोटा-मोटा लूटेरा नहीं हूं. बल्कि मैं बीस लाख रुपये से नीचे का लूट नहीं करता ना ही किसी भी तरह के घटना को अंजाम देता हूं. लुटेरों ने कहा मुझे गलत सूचना मिली थी कि संचालक के पास बीस लाख रुपए से ज्यादा है.



वहीं, पुलिस ने लुटेरों के पास से दो कट्टा, ढाई लाख रुपए जब्त किया है. हालांकि लुटेरे जब भी लूट का योजना बनाते थे तो अपना एक अलग कोड का इस्तेमाल करते थे पैसे की लूट में अपराधियों ने पूजा के लिए फूल भेज रहे हैं ऐसे बारीकी कोड वर्ड का इस्तेमाल अक्सर किया करते थे. गिरफ्तार लूटेरों ने बताया की जिस घर में सीएसपी केंद्र चलता है उसी मकान मालिक के बेटे ने हम सभी लोगों को बीस लाख रुपये से अधिक होने की बात बताया था.

हालांकि हम सभी ने उसी समय लूट की घटना को अंजाम देने के लिए पूरी प्लानिंग सेट कर ली थी तथा इस लूट की घटना को अंजाम हम लोगों ने दे डाला. लेकिन बेखौफ लुटेरों ने जिले के पुलिसिया आलाकमान के सामने दुस्साहस का परिचय देते हुए कहां की हम छोटे-मोटे घटना को अंजाम नहीं देते हैं बल्कि बहुत बड़े मोटी रकम को लूटने का काम करते हैं. मौके पर मौजूद एसपी के अलावा अन्य पुलिस अधिकारी के साथ-साथ मीडिया कर्मी खुद वहां उपस्थित थे इस बात को लुटेरों के द्वारा सुनने से सभी लोग आहत हो गए.


वहीं, जब पुलिस ने पूछा कि क्यों पकड़ाने का डर नहीं रहता है जेल जाने का डर नहीं रहता है तो लुटेरों ने बिना डरे हुए जवाब देते हुए कहा कि पकड़ाने के बाद बेल कराने और केस लड़ने में इतना खर्चा बढ़ जाता है. यही नहीं सारे लूट कांड के घटना का जिक्र करते हुए लुटेरों ने सभी चीजों को परत दर परत खोलते हुए कहा कि जब सीएसपी केंद्र का संचालक पैसा लेकर चला तो मकान मालिक का बेटा ने कोड बोला की पूजा के लिए फूल भेज रहे हैं. जरा अच्छे से रिसीव कर लेना वह जैसे ही लाइनर का काम मकान मालिक के बेटे ने किया. वैसे ही तत्परता दिखाते हुए बिन देरी किए बगैर लुटेरों ने मछली मंडी के पास तीन की संख्या में उसके पीछे लाइनर का काम करना चालू कर दिए थे फिर जैसे ही मौका मिला वैसे ही लुटेरों ने लूट के घटना को अंजाम दे डाला.

हालांकि इस संबंध में जिले के मोहनिया थाना में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि 16 मई को सीएसपी संचालक से मोहनिया थाना अंतर्गत मामादेव गांव के समीप लूट की घटना को अंजाम दिया था जिस में पुलिस ने उक्त लूट कांड मामले का उद्भेदन करते हुए ढाई लाख रुपए कैस, दो पिस्टल बरामद किया है. आपको बता दें कि इस लूट कांड के घटना का मुख्य लाइनर का काम कर रहा मकान मालिक के बेटे सहित टोटल 7 लुटेरों की पुलिस ने गिरफ्तार की है , तथा मेडिकल कराकर सभी लुटेरों को जेल भेज दिया गया.