गिरफ्तारी के बाद माफियाओं का बड़ा खुलासा, चुनाव में खपाने के लिए पटना आनी थी 15 करोड़ की शराब

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार में विधानसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान हो चुका है. ऐसे में बिहार पुलिस लगातार चौकसी बरत रही है. इसी कड़ी में पटना पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. कदमकुआं पुलिस और मद्य निषेध की टीम ने कदमकुआं थाना क्षेत्र के ओम विहार रेस्टोरेंट से शराब माफियाओं को गिरफ्तार किया है.

पुलिस की छापेमारी में सात लोगों की गिरफ्तारी हुई. जिसमें एक छपरा(सारण) के पूर्व मुखिया भी शामिल है. पुलिस से पूछताछ में मालूम चला कि विधानसभा चुनाव से पहले इन्हें 15 करोड़ की शराब लाने का ठेका मिला था. इसके अलावा शराब माफियाओं ने बताया कि वे पहले भी अन्य राज्यों से बिहार में शराब की खेप ला चुके हैं.



जानकारी के मुताबिक ओम विहार रेस्टोरेंट में शराब तस्करों की खास मीटिंग चल रही थी. जिसके बाद उन्हें गुप्त सूतना मिली थी कि एक बंद कमरे में बिहार में शराब लाने की डील चल रही थी. जिसके पुलिस और मद्य निषेध की टीम ने कार्रवाई करते हुए इस डील का भांडाफोड़ कर दिया.

बताया ये भी जाता है कि इन शराब माफियाओं की डील व्हाट्सएप पर होती थी. जिसके बाद मामला फिक्स होते ही छपरा से शराब पटना लाया जाता था. इसके बाद यहां से ही अन्य जिलों में भी शराब पहुंचाई जाती थी. बता दें कि पकड़े गए शराब तस्करों ने ये भी कहा कि उनके इस डील में बिहार के कई छोटे-बड़े व्यपारी शामिल रहते थे.गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही उत्पाद विभाग सहित बिहार पुलिस इन शराब तस्करों के खिलाफ जमकर छापेमारी कर रही है. जिसका रिजल्ट भी पुलिस को खूब मिल रहा है.