पटना पुलिस का खुलासा : सोनालिका पेट्रोल पम्प से निकाले गए नोजलमैन ने ही रची थी कैश लूट की साजिश

पटना/अमित जायसवाल : 12 अगस्त की सुबह अपराधियों ने रामकृष्णा नगर में यूनियन बैंक के बाहर 6.86 लाख रुपया कैश लूट लिया था. ये कैश एनएच-30 पर पहाड़ी के पास स्थित सोनालिका पेट्रोल पम्प का था. कैश को बैंक में जमा करने के लिए मैनेजर अपने एक साथी के साथ निकला था. अपराधियों ने कैश लूट के दौरान मैनेजर को गोली मार कर घायल कर दिया था. रविवार को पटना पुलिस ने इस मामले का खुलासा कर दिया है.

एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार की अगुवाई में एक टीम बनाई थी. इस टीम में रामकृष्णा नगर, अगमकुआं और मालसलामी की पुलिस टीम थी. जांच के क्रम में पता चला कि सोनालिका पेट्रोल पम्प से निकाले गए नोजल मैन ने इस कांड की पूरी पटकथा रची. जबकि निकाले गए दूसरे स्टाफ प्रभाकर ने लाइनर की भूमिका निभाई. इन दोनों ने मिलकर मालसलामी के रहने वाले कुख्यात अपराधी विकास कुमार से सांठगांठ की. फिर मारूफगंज में मंसूरगंज के दाल कारोबारी से कैश लूटने की वारदात में शामिल रहे मालसलामी के करण चौधरी को शामिल किया, ये लगातार फरार चल रहा था.



रामकृष्णा नगर की वारदात में कुल 5 अपराधी शामिल थे. सभी को पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया है. इसमें लाइनर प्रभाकर कुमार, कुख्यात विकास कुमार, विक्की कुमार, मनीष कुमार और करण कुमार चौधरी शामिल है. इनके पास से पुलिस टीम ने दो देशी पिस्टल, 2 गोली और लूट में इस्तेमाल की गई एक बाइक शामिल है. जब पेट्रोल पम्प से कैश लेकर मैनेजर निकला था, तभी प्रभाकर ने अपराधियों को सूचना दी. इसके बाद से ही अपराधी मैनेजर की बाइक के पीछे लग गए थे. इसके बाद बैंक के सामने ही वारदात को अंजाम दिया और कैश लूट कर फरार हो गए. लूट के रुपए से अपराधियों ने कर्ज चुकाया, अय्याशी की और शराब के अवैध धंधे में इन्वेस्ट किया.

एसएसपी के अनुसार कुख्यात विकास, करण चौधरी और मनीष का लंबा अपराधिक इतिहास है. इन्हीं अपराधियों ने दानापुर के उर्मिला ज्वेलर्स में डकैती की थी. साथ ही रूपसपुर में ज्वेलर्स मार्ट को लूटा था. मालसलामी में विकास पर फिरौती के लिए किडनैपिंग और हत्या का भी मामला दर्ज है.