शादी के नाम पर लड़की को धोखा देने के मामले में पकड़ा गया डांस क्लास चलाने वाला रविकांत

लाइव सिटीज, पटना/अमित जायसवाल : आखिरकार डांस क्लास चलाने वाला रविकांत गिरफ्तार हो ही गया. पटना के रूपसपुर थाना की पुलिस ने शुक्रवार को उसे अपने कब्जे में ले लिया. उसके खिलाफ पटना के कोर्ट ने नॉन वलेवल वारंट जारी कर रखा था. लेकिन अपने परिवार के पैरवी के दम पर वो आज से पहले तक बचता रहा. दरअसल, मामला शादी के नाम पर लड़की को धोखा देने और उसका शारीरिक शोषण करने का है. विजय नगर के रहने वाले सत्येंद्र सिंह के बेटे रविकांत ने दानापुर के एक एरिया की रहने वाली लड़की को पहले अपना दोस्त बनाया था. रूपसपुर इलाके में ही दोनों एक साथ डांस क्लास चलाते थे. फिर उसके साथ प्यार का नाटक किया. उससे शादी करने का वादा किया था. शादी से पहले ही लड़की के साथ शारीरिक संबंध बनाया.

गंभीर आरोप है कि जब लड़की प्रेग्नेंट हो गई तो रविकांत ने उससे शादी करने से इनकार कर दिया था. इस मामले की जानकारी रविकांत के परिवार को भी थी. उसके बाद भी दूसरी लड़की के साथ उसकी शादी तय कर दी गई. पिछले साल 30 नवंबर को रविकांत ने दूसरी लड़की के साथ शादी कर ली. हालांकि इसके पहले ही झांसे की शिकार हुई लड़की ने पटना के महिला थाना रविकांत के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा रखा था. इसी मामले में कोर्ट ने रविकांत के खिलाफ नॉन वलेवल वारंट जारी किया था.



पुलिस के सामने परिवार वालों ने किया हंगामा

झांसा देकर हो गया था फरार

आज जब रूपसपुर थाना की पुलिस टीम रविकांत को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंची तो वो बाहर में ही खड़ा था. पुलिस के साथ पीड़ित लड़की और उसे इंसाफ दिलाने के लिए साथ दे रही सोशल वर्कर तब्बसुम भी वहां गई थी. पुलिस रविकांत को चेहरे से नहीं पहचानती थी. इस कारण आरोपी ने फायदा उठाया और अपना गलत नाम बता वहां से फरार हो गया. उसे भागते हुए पीड़ित लड़की ने देख लिया था. पीड़िता ने ही उसकी पहचान की. इसके बाद रविकांत के परिवार के लोग घर के बाहर आ गए. परिवार वालों ने पुलिस टीम, पीड़िता और सोशल वर्कर के साथ बदसलूकी की. देख लेने की धमकी दी. रविकांत को गिरफ्तारी से बचाने के लिए हर तरह के हथकंडे अपनाए गए. लेकिन पुलिस टीम की दबिश के कारण इस बार किसी की नहीं चली. 2 घंटे बाद ही फरार हुए रविकांत को पुलिस के सामने आना ही पड़ा.