फोन से सम्पर्क कर शादी का झांसा देकर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा, दो महिला गिरफ्तार

लाइव सिटीज, ब्रजेश दुबे: ‘हैलो कौन बोल रहा, आपे फोनवा लागैले हई न बोली का बात बा, फोन उधर से आया है, अच्छा बोलीं.’ इस तरह लॉकडाउन के बाद भोले भाले युवकों को अनजान कॉल से शादी के जाल में फंसा कर पैसा ठगने वाले एक गिरोह का कैमूर पुलिस ने खुलासा किया है. गिरोह यूपी-बिहार के कई जिलों में फैला हुआ है.

इस नेटवर्क में युवको को फंसाने वाली महिला समेत महिला की सौतेली मां, बुआ और मौसा से लेकर कई रिश्तेदार शामिल हैं. इस नेटवर्क का खुलासा करते हुए पुलिस ने आरोपी महिला और उसकी बुआ को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.



इस संबंध में एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि शादी का झांसा देकर ठगी करने वाली दो महिलाओं को मोहनिया थाना की पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया है. उन्होंने कहा कि गिरफ्तार महिला रोहतास जिला के चेनारी थाना क्षेत्र के पलौंधा गांव की लालमुनी राम की पत्नी तीन बच्चे की मां धनवर्ती देवी है. वहीं दूसरी महिला बेलांव थाना क्षेत्र के गंगापुर गांव निवासी शंकर राम की पत्नी शारदा देवी हैं.

एसपी ने बताया कि धनवर्ती देवी ने फोन कर यूपी के शहजानपुर जिला के तिहेलर थाना क्षेत्र के बेलहरी गांव निवासी श्याम पाल के बेटे सोनू को बुलाया. सोनू धनवर्ती देवी के संपर्क में छह माह पूर्व से था. उन्होंने बताया कि मंगलवार को सोनू को शादी करने के लिए बुलाया गया. धनवर्ती ने सोनू को बताया कि वह मोहनिया में उसके मामा से मिले. सोनू जब उसके मामा से मिला तो वह सोनू को कुदरा ले गया. जहां धनवर्ती देवी मिली और मंदिर में घुमाते रही. शादी करने की बात कहने पर सोनू से गहना और साड़ी खरीदने के लिए 14 हजार रुपये लिए. फिर शादी करने मंदिर पर आए तो मोहनिया चलने के लिए बोला गया. फिर सोनू को मोहनिया पहुंचा.

मोहनिया आने पर दूसरे दिन शादी करने की बात धनवर्ती देवी ने की. तब सोनू ने मंगलवार को ही शादी करने की जिद की. जिसके बाद धनवर्ती देवी ने 25 हजार रुपये की मांग की. फिर सोनू ने शादी करने के बाद पैसा देने की बात कही. इसी बात को लेकर दोनों के बीच बस स्टैंड पर विवाद हो गया. आसपास के लोगों ने मोहनियां थाना को सूचना दी.

मोहनियां थाना की पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मौके पर से दोनों महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया. एसपी ने बताया कि मोहनियां थाना में कांड दर्ज कर दोनों को जेल भेजा जा रहा है. वहीं सोनू ने बताया कि एक अनजान कॉलिंग और व्हाट्सएप से प्यार परवान चढ़ा था और प्रेमिका के बुलावे पर मोहनियां आया था, जो ठगी का शिकार होने से बच गया.