महिला की गला रेत कर की गई हत्या, मसाढ़ी गांव के पास नदी किनारे मिली लाश

पटना/अमित जायसवाल : गला रेतकर एक महिला की हत्या कर दी गई है. लाश को ठिकाना लगाने के लिए नदी में फेंक दिया गया था. लेकिन गुरुवार को महिला की लाश पुनपुन नदी के किनारे पड़ी हुई मिली. यह मामला पटना के गौरीचक थाना के तहत मसाढ़ी गांव का है. सुबह के वक्त टहलने निकले गांव के लोगों ने ही महिला की लाश को देखा. फिर मामले की जानकारी गौरीचक थाना की पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंच कर पुलिस टीम ने छानबीन की.

नदी किनारे जिस जगह पर लाश मिली, उससे कुछ दूर पहले ही सड़क पर खून के धब्बे मिले. वहीं पर महिला के चप्पल पड़े हुए थे. फिर इससे कुछ दूरी पर उसका पर्स और उसमें रखे कुछ कागजात और फोटो मिले. जब उसे खंगाला गया तो उसमें महिला की एक फोटो, केनरा बैंक से 80 हजार रुपए निकालने की स्लीप और कुछ दूसरे कागजत पाए गए. इसी के आधार पर जांच कर रही पुलिस टीम ने महिला की पहचान की. जिस महिला की लाश मिली, उसका नाम मंजूषा कुमारी था. इसका मायका पटना के ही गोपालपुर थाना के तहत संपतचक इलाके में है. जबकि ससुराल धनरूआ के वीरगांव में है. जांच करते हुए पुलिस टीम मायके वालों तक पहुंची. वहां से पता चला कि मंजूषा कुमारी बुधवार की शाम 7 बजे के करीब मायके वाले घर से निकली थी. वो कहां गई थी? इसके बारे में परिवार के लोगों को कोई जानकारी नहीं है. पूरी रात वो वापस नहीं है. अब सुबह में उसकी हत्या कर फेंकी गई लाश ही मिल गई.



पुलिस के अनुसार कुछ साल पहले मंजूषा की शादी वीरगांव के संजीत पंडित से हुई थी. लेकिन शादी के बाद से दोनों में अक्सर झगड़ा होता था. इस कारण वो ससुराल की जगह अपने मायके में ही रह रही थी. कई बार पति ने उसे अपने साल ले जाने की कोशिश की, पर वो नहीं गई. हाल में ही तीज के दिन संजीत पांडेय ने दूसरी शादी कर ली थी. इसकी जानकारी मिलते ही मंजूषा अपने ससुराल गई थी. लेकिन उसे वहां से भाग दिया गया था. मंजूषा के हत्या के पीछे का कारण क्या है? इस बारे में पुलिस को कुछ पता नहीं चल सका है. सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार के अनुसार उनकी टीम हर प्वाइंट पर इस केस की जांच कर रही है. जांच के बाद ही असलियत सामने आएगी.