शर्मनाक : नौकरी के नाम पर जदयू नेत्री ने ठगे ढाई लाख, मामला दर्ज

दरभंगा : हर टेबल पर पहुंचते हैं पैसे, सब को करना पड़ता है खुश, तब जाकर मिलती है नौकरी. जी हां, यह एक ओर जहां बिहार में हुए टॉपर्स घोटाले की बदनामी की छीटें ने राज्य को कलंकित करने का काम किया था, वहीं दूसरी ओर एक नये मामले ने जोर पकड़ लिया है.

नौकरी दिलाने के नाम पर पांच लाख रुपए की ठगी का एक नया मामल शहर के लहेरियासराय थाने में दर्ज किया गया है. उक्त पूरे मामले को ले एसएसपी ने जांच के आदेश दिए हैं. कोर्ट में फोर्थ ग्रेड की नौकरी में पैरवी को लेकर अशोक पेपर मील थाना अंतर्गत असमा गांव निवासी सीताराम कुमार के पुत्र प्रशांत कुमार ने अपने आवेदन में कहा है कि कोर्ट में लिपिक पद की बहाली के लिए 23 मार्च 2006 को ढ़ाई लाख रुपए सिंहवाड़ा प्रखंड अंतर्गत कठलिया गांव की जदयू नेत्री सह आगंनवाड़ी सेविका हमीदा असगरी सहित मो. अशरफ, मो. ओबैद हाशमी सहित तीन और लोगों की मौजूदगी में पैसे देने की बात कही है.

a1

प्रशांत ने बताया कि उसने परीक्षा भी दे दी, रिजल्ट भी निकल गया. मगर, उसकी पैरवी नहीं की गई. जैसा कि उक्त जदयू नेत्री ने पैसे लेकर पैरवी करने की बीत कही थी. काम नहीं होने पर पैसा मांगा तो ऊपर तक पहुंचाने के नाम पर रोजाना टालमटोल करते रहे. इससे तंग होकर उसने थाने में मामला दर्ज करवाया.

उक्त मामले में एक ऑडियो टेप भी आवेदक के द्वारा रिकॉर्ड किया गया. इसमें आवेदक के मुताबिक पैरवीकार जदयू नेत्री ने कहा कि उसकी पैरवी के लिए बड़े–बड़े अधिकारियों के टेबल तक पैसे देने पड़ते हैं. तब जाकर काम बनता है. ऑडियो में नेत्री ने ऊपर तक पैसे पहुंचाने की बात स्वीकार की है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*