जन धन योजना में जमा हो रही राशि में आई गिरावट

लाइव सिटीज डेस्क : सरकार की चेतावनी के बाद प्रधानमंत्री जन धन योजना में जमा हो रही राशि में तेजी से गिरावट आई है. नोटबंदी के बाद से ही लगातार सरकार जन धन योजना के खाताधारकों को आगाह कर रही थी कि वे अपने बैंक अकाउंट का इस्तेमाल दूसरे व्यक्तियों के काले धन को जमा करने के लिए नहीं होने दें.

आठ नवंबर को 500 रुपये और 1000 रुपये के पुराने नोट बंद होने के बाद शुरुआती हफ्तों में जन धन खातों में जमा राशि में तेजी से उछाल आया था, लेकिन बीते कुछ दिनों से इसमें गिरावट आ रही है. आयकर विभाग ने उन स्थानों और शाखाओं की पहचान की है, जहां जन धन खातों में ज्यादा राशि जमा हुई है.



सीबीडीटी के अनुसार नोटबंदी के बाद पहले सप्ताह यानी आठ से 15 नवंबर के दौरान जन धन खातों में भारी भरकम 20,206 करोड़ रुपये जमा हुए थे. तीसरे सप्ताह (23 से 30 नवंबर) के दौरान जमा की जाने वाली रकम घटकर 4,867 करोड़ रुपये के स्तर पर आ गई. वहीं दूसरे सप्ताह (16 से 22 नवंबर) के दौरान जन धन खातों में 11,347 करोड़ रुपये जमा हुए.

आयकर विभाग का कहना है कि बीते कुछ दिनों में जन धन खातों में जमा हो रही राशि में और गिरावट आ गई है. मसलन एक दिसंबर को जन धन खातों में मात्र 410 करोड़ रुपये तथा दो दिसंबर को 389 करोड़ रुपये जमा हुए.

131640-money

विभाग के अनुसार आठ नवंबर से दो दिसंबर के दौरान जन धन खातों में औसतन 13,113 रुपये जमा हुए हैं, जो कि पूरी नकदी को बैंकों के पास लाने की जरूरत के मद्देनजर चिंताजनक नहीं है. हालांकि, सीबीडीटी ने कहा कि आयकर विभाग ने देश भर में कई ऐसे स्थानों तथा बैंक शाखाओं की पहचान की है, जहां जन धन खातों में औसत से अधिक राशि जमा हुई है.

यह भी पढ़िए- बुजुर्ग रेल भाड़े में छूट पाना चाहते हैं तो 1 अप्रैल 2017 से पहले बनवा लें आधार कार्ड