बुजुर्ग रेल भाड़े में छूट पाना चाहते हैं तो 1 अप्रैल 2017 से पहले बनवा लें आधार कार्ड

लाइव सिटीज डेस्क : यदि बुजुर्गजन रेलवे किरायों में छूट पाना चाहते हैं या पहले से ले रहे हैं और इस छूट को जारी रखना चाहते हैं, तो अपना आधार कार्ड हर हाल में 1 अप्रैल 2017 से पहले पहले बनवा लें. अगले साल 1 अप्रैल, 2017 से रियायती दर पर रेल यात्रा के लिए टिकटों का आरक्षण कराने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए आधार कार्ड उपलब्ध करवाना अनिवार्य हो जाएगा. यह काउंटर से टिकट लेने और ई-टिकट दोनों पर लागू होगा. मगर बता दें कि आधार कार्ड जनवरी-मार्च, 2017 के दौरान ऑप्शनल है. दरअसल रेलवे इस योजना के जरिए टिकटों की कालाबाजारी पर रोक लगाना चाहता है.


रेल मंत्रालय ने दो चरणों में वरिष्ठ नागरिकों के लिए आधार पर आधारित टिकटिंग प्रणाली लागू करने का निर्णय किया है. इसके मुताबिक, एक जनवरी से 31 मार्च, 2017 तक वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायती टिकट हासिल करने के वास्ते आधार सत्यापन की आवश्यकता स्वेच्छा के आधार पर होगी. एक अप्रैल, 2017 से इस तरह की आवश्यकता अनिवार्य हो जाएगी.



यह भी पढ़ें- केंद्र का फैसला : IAS सिखाएंगे लोगों को डिजिटल पेमेंट तो मिलेगा 10 रुपये का इंसेंटिव

अक्टूबर तक देशभर में 106.69 करोड़ आधार संख्याएं जारी की जा चुकी हैं. अक्टूबर में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने 22 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 100 प्रतिशत व्यस्कों की आधार संख्या सुनिश्चित करने के लिए एक महीने के लिए ‘चुनौती अभियान’ शुरू किया था

railway-reservation-pti

इसी बीच बताते चलें कि नोटबंदी के ऐलान के बाद अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो जल्द ही आप अपने आधार कार्ड का इस्तेमाल तमाम तरह के पेमेंट करने में कर सकेंगे. कैशलेस इकॉनमी की ओर अग्रसर सरकार इस बाबत कोशिश कर रही है. आपके 12 नंबर वाले आधार कार्ड के जरिए पेमेंट लागू करने की कोशिश सफल हो जाने के बाद आपको अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं करना पड़ेगा.